संजीवनी टुडे

खुले में शौच दुष्कर्म, हीटस्ट्रोक एवं.एईएस का एक बड़ा कारण

संजीवनी टुडे 22-06-2019 17:00:02

गया जिले में दोपहर में खुले में शौच जाने वाली महिलाओं के साथ सर्वाधिक दुष्कर्म की घटनाएं हुई हैं । पिछले दिनों हीट स्ट्रोक एवं एईएस के पीछे दोपहर में खुले में शौच जाने वाले व्यक्ति सर्वाधिक ऐसे हैं जिनकी असमय मौत हुई है


गया। गया जिले  में दोपहर में  खुले में शौच जाने वाली महिलाओं के साथ सर्वाधिक दुष्कर्म की घटनाएं  हुई हैं । पिछले दिनों हीट स्ट्रोक एवं एईएस के पीछे दोपहर में खुले में शौच जाने वाले व्यक्ति सर्वाधिक ऐसे हैं जिनकी असमय मौत हुई है।यह  बात डीएम अभिषेक सिंह ने शनिवार को समाहरणालय सभाकक्ष में जिला समन्वय समिति की बैठक में कही। जिलाधिकारी  ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को अपने-अपने प्रखंड के लक्ष्य के अनुरुप प्रतिदिन शौचालय निर्माण करने वाले लाभुकों का ऑनलाइन भुगतान करने का निर्देश दिया। 

 उल्लेखनीय है कि लोहिया स्वच्छ बिहार योजना के अंतर्गत 30 जून तक सभी बैकलॉग लाभुकों का शत-प्रतिशत भुगतान करने का महा अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत जिन प्रखंडों में जितने लाभुकों का बकाया है उनके अनुसार उन्हें प्रतिदिन भुगतान करने का एक लक्ष्य निर्धारित किया गया है। समीक्षा के दौरान पाया गया कि कई प्रखंडों ने विगत 2 दिनों में जीरो पेमेंट किया है। जिलाधिकारी श्री सिंह ने वैसे प्रखंड विकास पदाधिकारी का उस दिन का वेतन काट देने का निर्देश दिया है, जिस दिन उन्होंने जीरो पेमेंट किया है।

 उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री स्तर पर की गई समीक्षा में यह तथ्य सामने आया है कि जिन व्यक्तियों को हीट स्ट्रोक लगा है,उनसे पूछने   पर यह पाया गया है कि उनमें से अधिकतर दोपहर में खुले में शौच करने गए थे, जहां उन्हें हीट स्ट्रोक लग गया। साथ ही एईएस की बीमारी भी खुले में शौच से जुड़ी हुई  है क्योंकि जहां खुले में शौच होता है ,वहीं  सूअर पाला जाता है और उस स्थल को वह गंदा करता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ दुष्कर्म के अधिकतर मामलों में भी खुले में शौच एक बड़ा कारण पाया जा रहा है। इसलिए शत प्रतिशत शौचालय का निर्माण करवाना सर्वोच्च प्राथमिकता है।

 डीएम श्री सिंह ने अतरी, परैया, मोहनपुर, टनकुप्पा, बेलागंज, मानपुर, बाराचट्टी और कोच को ओडीएफ के लिए ग्राम सत्यापन करा लेने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा के दौरान भी कई प्रखंड द्वितीय एवं तृतीय किस्त की राशि के भुगतान के मामले में पीछे पाये गये। इनमें अतरी, बाराचट्टी, फतेहपुर, इमामगंज,मोहनपुर,मोहड़ा, वजीरगंज, टिकारी शामिल हैं । जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधान मंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चयनित गांव में बचे हुए काम 15 जुलाई तक शत-प्रतिशत पूर्ण हो जाने  चाहिए।

उन्होंने कहा कि अतरी में 99%, बोधगया में 96%, फतेहपुर में 94% और खिजरसराय में 98% कार्य हुआ है। पुनः 10 पंचायतों का चयन आदर्श ग्राम योजना के तहत किया  गया  है, जिनमें कार्य प्रारंभ करना है। 

उन्होंने कहा कि सात निश्चय के तहत स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड,स्वयं सहायता भत्ता योजना, कुशल युवा कार्यक्रम के लिए 28 जून से अगस्त तक प्रखंडों में प्रखंड विकास पदाधिकारी की  अध्यक्षता में काउंसलिंग का कार्यक्रम चलाया जाएगा, जिसका रोस्टर निकल गया है । इस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों को शामिल कराने का निर्देश प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया गया। बैठक में उप विकास आयुक्त किशोरी चौधरी, निदेशक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, उप निदेशक जन संपर्क, विशेष कार्य पदाधिकारी जिला गोपनीय शाखा एवं सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी उपस्थित थे। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

 

More From state

Trending Now
Recommended