संजीवनी टुडे

कोरोना/ राजस्थान सरकार को अब ये सबसे बड़ी चुनौती, राज्य के इन 12 जिलों में....

संजीवनी टुडे 24-05-2020 03:03:00

राजस्थान में अब कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे बड़ी चिंता प्रवासी बन चुके हैं क्योंकि लगातार राजस्थान के करीब 12 जिलों से प्रवासियों के सबसे ज्यादा नए पॉजिटिव केस दर्ज हो रहे हैं।


जयपुर। राजस्थान में सरकार की सैकड़ों कोशिशों के बावजूद कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी है। 23 मई शनिवार की दोपहर 2 बजे आई रिपोर्ट के अनुसार 163 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद, यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 6657 पहुंच गया है। वहीं, राजस्थान में इस समय कोरोना एक्टिव केस की संख्या 2806 हो गई है, हालांकि, 3695 मरीज रिकवर भी हो चुके हैं और राज्य में कुल मौतों का आंकड़ा 156 हो गया है।

This is the biggest problem for Rajasthan  government regarding corona infection condition of 12 districts is critical

दरअसल, राजस्थान में अब कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे बड़ी चिंता प्रवासी बन चुके हैं क्योंकि लगातार राजस्थान के करीब 12 जिलों से प्रवासियों के सबसे ज्यादा नए पॉजिटिव केस दर्ज हो रहे हैं। आपको बता दें कि नागौर में एक बार फिर कोरोना बम फटा है। शुक्रवार को जिले में एक दिन में एक साथ 28 नए मामले सामने आए थे और शनिवार सुबह 17 ने केस सामने आये हैं,जिसके बाद चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया है। अब तक जिले में 5 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है और कुल 263 मामले अब तक कोरोना संक्रमण के सामने आ चुके हैं।

India Corona LIVE 37654 cases 187 new cases were received in Punjab and 54 in Rajasthan recovery rate increased to 2665 in last 24 hours

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश के अलग-अलग जिलों में करीब 10 लाख प्रवासी राजस्थानी और श्रमिक राज्य में आए हैं। इनमें से करीब 7.25 लाख लोगों को होम क्वारेंटाइन में रखा गया है और करीब 34 हजार लोग संस्थागत क्वारेंटाइन में हैं। उन्होंने कहा कि बाहरी लोगों के आगमन के साथ ही सरकार ने जांच की सुविधा में बढ़ोतरी की है। उन्होंने कहा कि अब सरकार का जोर बाहर (पाली, सिरोही, जालौर, डूंगरपुर जिलों में) से आने वाले प्रवासियों के क्वारेंटाइन सुविधा उपलब्ध कराने पर ज्यादा है।

Corona will wreak havoc in the country between 2128 June scientists alert

उन्होंने कहा कि आने वाले सभी प्रवासियों का स्वागत है, लेकिन वे यदि खुद को क्वारेंटाइन में नहीं रहेंगे तो प्रदेशवासियों द्वारा अब तक की गई मेहनत खराब हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अन्य बीमारियों के उपचार के लिए चलाई जा रही 550 मेडिकल मोबाइल ओपीडी वैन प्रदेश भर में लोगों का चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध करवा रही हैं। इन वैनों के जरिए अब तक करीब 22 हजार लोगों इससे लाभान्वित हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जहां-जहां जॉजीटिव केसेज ज्यादा आ रहे हैं वहां 10-10 ओपीडी वेन को सैंपल कलेक्शन के काम में लगाई जाएगी।

यह खबर भी पढ़े: संकट के समय भारत अपने मित्र मारीशस का सहयोग करने के लिए कर्तव्यबद्धः प्रधानमंत्री

यह खबर भी पढ़े: ममता ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का किया दोबारा दौरा, पीड़ितों की संख्या छह करोड़ बताई

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended