संजीवनी टुडे

हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के नाम को लेकर कांग्रेस से नहीं मिला कोई पत्र

संजीवनी टुडे 12-06-2019 22:28:58

रियाणा में अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से दो महीना पहले यानी अगस्त में राज्य सरकार विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने जा रही है। अगस्त में होने वाले अंतिम सत्र में विपक्ष के नेता का भी होना जरूरी है


चंडीगड़। हरियाणा में अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से दो महीना पहले यानी अगस्त में राज्य सरकार विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने जा रही है। अगस्त में होने वाले अंतिम सत्र में विपक्ष के नेता का भी होना जरूरी है, लेकिन राज्य में अभी विपक्ष के नेता का पद खाली चल रहा है। इनेलो के पास 19 विधायक हुआ करते थे। चार विधायकों के जननायक जनता पार्टी को समर्थन देने, चार के भाजपा व कांग्रेस में शामिल हो जाने तथा दो विधायकों के देहावसान की वजह से अभय सिंह चौटाला की विपक्ष के नेता की कुर्सी चली गई। 

अभय इनेलो विधायक दल के नेता हैं। कांग्रेस विधायकों की संख्या 17 है, जो इनेलो से ज्यादा है। सदस्यों की संख्या को देखते हुए विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर ने विपक्ष के नेता का पद कांग्रेस को आफर किया है। स्पीकर ने बुधवार को कहा कि विपक्ष के नेता पद के लिए कांग्रेस से अभी तक कोई पत्र विधानसभा को नहीं मिला है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता लोकसभा चुनाव की तैयारियों में उलझे हुए थे। इसी बीच विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने मौका देखते ही स्पीकर को पत्र लिखकर विपक्ष के नेता पद पर दावेदारी जता दी। कांग्रेस दिग्गजों को जब किरण के इस दांव का पता चला तो वे हैरान रह गए। 

कांग्रेस नेताओं के आपसी विवाद को भांपते हुए विधानसभा सचिवालय ने स्पीकर की ओर से किरण चौधरी को पत्र लिखकर कांग्रेस विधायकों का समर्थन पत्र अथवा प्रदेश अध्यक्ष की चिट्ठी मांग ली है। किरण यह पत्र अभी तक स्पीकर को नहीं दे पाई हैं। 

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

More From state

Trending Now
Recommended