संजीवनी टुडे

पांच साल तक किसानों की बिजली दरों में परिवर्तन नहीं- ऊर्जा मंत्री

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 17-10-2019 20:22:00

कल्ला ने कहा है कि राजस्थान में पांच साल तक किसानों की बिजली दरों में बदलाव नहीं किया जायेगा, लेकिन आम उपभोक्ताओं की बिजली दरें नियामक आयोग ही तय करेगा।


जैसलमेर। राजस्थान के ऊर्जा मंत्री डा़ बी.डी. कल्ला ने कहा है कि राजस्थान में पांच साल तक किसानों की बिजली दरों में बदलाव नहीं किया जायेगा, लेकिन आम उपभोक्ताओं की बिजली दरें नियामक आयोग ही तय करेगा। डा़ कल्ला ने आज यहां पत्रकारों से कहा कि नियामक आयोग एक स्वतंत्र आयोग हैं, उसमें हमारी कोई दखलंदाजी नहीं होती है। वही इस संबंध में कोई निर्णय करेगा।

यह खबर भी पढ़ें: ​सरकार ने राष्ट्रीय झंडे ‘तिरंगे’ के आयात पर लगाया प्रतिबंध

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने यह घोषणा की हैं कि राजस्थान में किसानों के लिए बिजली कनेक्शन एवं बिजली दरों में पांच साल में हम कोई बढ़ोत्तरी नहीं करेंगे, लेकिन जहां तक आम जनता की बिजली दरों में बदलाव की बात है इस संबंध में कोई भी अंतिम निर्णय नियामक आयोग करेगा। नियामक आयोग स्वतंत्र आयोग हैं इसमें सभी अपनी बात रखते है। डिस्कॉम अपनी बात रखता हैं, जनता अपनी बात रखते हैं ण्चं अलग अलग संगठन अपनी अपनी बात रखते है। नियामक आयोग क्या निर्णय करेगा उसके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं हैं, लेकिन यह तय है किसानों की बिजली दरें नहीं बढ़ेेंगी।

डा़ कल्ला ने एक सवाल के जवाब में कहा कि राजस्थान के पास अतिरिक्त बिजली है। वर्तमान में हम 21 हजार 700 मेगावाट विद्युत उत्पादन कर रहे हैं जो हमारे खुद के उत्पादन के साथ हमें अन्तर्राजीय समझोतों से एन.टी.पी.सी एवं अन्य राज्यों से मिल रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में रबी की फसल के लिये किसानों को पूरी बिजली देने की हमने पूरी तैयारी कर ली है। रबी की फसल के दौरान बिजली की कोई कमी नहीं रहेगी।

उन्होंने राजस्थान के सीमाई इलाकों में टिड्डी से हुए फसलों के नुकसान की चर्चा करते हुवे कहा कि इस संबंध में हमारे पास पूरी जानकारी हैं हम उचित कार्यवाही कर रहे हैं कई स्थानों पर अभी भी टिड्डियों की मौजूदगी देखी गई है जहां पर भारत सरकार का टिड्डी उन्मूलन विभाग एवं राज्य सरकार मिलकर उन पर नियंत्रण कर रहे है।

मात्र 13.21 लाख में अपने ख़ुद के मकान का सपना करें साकार, सांगानेर जयपुर में बना हुआ मकान कॉल - 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended