संजीवनी टुडे

पराली नहीं जलाने के लिए शुरू हुई मुहिम, 10 हजार किसान होंगे शामिल

संजीवनी टुडे 12-01-2019 22:31:30


बठिंडा | पंजाब में गेंहूं की बिजाई से पहले धान की पराली को बड़े स्तर पर किसानों द्वारा जलाया गया। इस वक्त में गेहूं की फसल पल रही है और आने वाले दिनों में पराली का मसला एक बार फिर से उभरेगा। हर बार की तरह पंजाब के कुछ किसान पराली को जमीन में मिलाएंगे, तो कुछ किसान सदियों से चली आ रही रीत के मुताबिक पराली को आग के हवाले करेंगे। विगत वर्षों से फसलों की पराली जलाने से होने वाले नुकसानों संबंधी कृषि विभाग समय-समय पर रणनीति बनाता आ रहा है। इस बार कृषि विभाग द्वारा एक जागरुक्ता मुहिंम शुरू की जायेगी, जिसमें उन किसानों को शामिल किया जायेगा जो पहले पराली जला चुके हैं । ये मुहिंम जनवरी से मार्च तक चलेगी। डिप्टी कमिश्नर बठिंडा परनीत की अगुवाई में चलाये जाने वाले इस मुहिम का मकसद पर्यावरण को बचाना और किसानों को पराली जलाने से होने वाले नुकसानों के बारे में बताना होगा।

कृषि अधिकारी बठिंडा डा. गुरादित्ता सिंह सिद्धू ने बताया कि जागरुकता मुहिंम के तहत जिले के गांवों में कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे जिनके तहत किसानों ने इस बार पराली को आग लगाई है | किसानों को खेत दिवस के दौरान बिना आग लगाए खेतों में हैपी सीडर से गेंहू के बीज डाले जायेंगे । ऐसा कर किसानों को आर्थिक तौर भी फायदा होगा |

अधिकारी डॉ. गुरांदित्ता सिंह सिद्धू ने बताया कि इस मुहिंम में जिले के दस हजार के करीब किसानों को शामिल किया जायेगा। अभी तक इस मुहिम के तहत जिले के गांव बल्लो, कालझरानी, राजगढ़ कुब्बे व सिरीयेवाला में सफल कार्यक्रम किये जा चुके हैं । 

sanjeevni app

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended