संजीवनी टुडे

निवाई: पटवारी की मनमानी से ग्रामीण परेशान, लोगों को लगाने पड़ रहे हैं दफ्तरों के चक्कर, देखें VIDEO

संजीवनी टुडे 21-06-2019 15:44:57

निवाई के ग्राम पंचायत दहलोद व तुर्किया के पटवारियों की मनमानी अपने चरम पर।


जयपुर। टोंक जिलें की तहसील निवाई के ग्राम पंचायत दहलोद व तुर्किया के पटवारियों की मनमानी अपने चरम पर है। इन पटवारियों की कार्यशैली से ग्रामीण बेहद परेशान है। क्षेत्र के किसानों और छात्र-छात्राओं को पटवारियों के दफ्तर का चक्कर लगाना पड़ रहा है। हल्का मुख्यालय ग्राम में पटवारी नहीं बैठ रहे हैं। ऐसे में किसानों को पटवारियों के कार्यालयों की परिक्रमा करने की मजबूरी है।

छोटे-छोटे कार्य के लिए किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दहलोद व तुर्किया ग्राम पंचायत के लोगों ने बताया कि भवन उपलब्ध होने के बावजूद पटवारी नियमित नहीं बैठते। वे महीने में एक या दो दिन ही नजर आते हैं। पटवारी अपनी मर्जी से कार्यालय चला रहे हैं। 

एक ग्रामीण रोशन लाल मीणा ने बताया कि लोगों के नामांतरण, छात्र-छात्राओं के जाती प्रमाण-पत्र सहित अन्य काम समय पर नहीं हो रहे है। ग्राम पंचायत तुर्कीया के पटवारी परस्थ लक्ष्मण मीणा, तथा दहलोद पटवारी हल्का जीतराम अपने मुख्यालय में उपस्थित नहीं रहने से की वजह ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

कई ग्रामीणों, छात्र-छात्राओं एवं कुछ कर्मचारियों ने बताया कि उक्त पटवारी जब मन करता है तब आते और चले जाते हैं। तुर्किया तथा दहलोद में मुख्यालय होने के बाद भी यहां रहना उनके शान के खिलाफ है। लोगों का कहना है कि, अब नया स्कूली सत्र प्रारंभ हो जाने के कारण कुछ छात्र-छात्राओं को जाति एवं निवास प्रमाण -पत्र बनवाने की आवश्यकता है। जिसके लिए रोज चक्कर काटना पड़ता है और घंटों इंतजार करना पड़ता है कि पटवारी अब आएंगे, कब आएगे। वही किसाना नकल-नक्सा, भूमि बंटवारा, कृषि ऋण के लिए भटक रहे हैं। लोगों ने बताया कि, पटवारी साहिब लोगों को धमकी देकर डराता-धमकाता और अभद्र भाषा का प्रयोग भी करता है। लोग जब उनके पास कोई शिकायत लेकर जाते है, तो वह बोलता है कि चाहे जिससे मेरी शिकायत कर दो मुझे नौकरी की कोई परवाह नहीं है। 

ग्रामीण रोशन लाल मीणा ने बताया कि पटवारी के सरकारी नंबरों पर फोन मिलाते हैं तो वह हमेशा बंद मिलता है तथा जैसे तैसे करके उसके निजी नंबर लेकर 50 बार फोन करने के बाद भी फोन नहीं उठाते। उन्होंने बताया की वह एक दिन पटवारी का पता पूछ कर उसके निजी रूम पर पहुंचे जहां उन्होंने अभद्र भाषा का प्रयोग किया तथा कहा कि इस रिकॉर्ड को अपने घर ले जाकर सब्जी बना लो मैं नहीं करूंगा कोई भी काम जिसका पीड़ित ने वीडियो बना लिया जिसकी शिकायत राजस्थान जनसंपर्क पोर्टल पर की गई है लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं होने के कारण पटवारी के हौसले इस प्रकार बुलंद है। पीड़ित का गांव 40 किलोमीटर दूर है तथा 30 से अधिक चक्कर काट चुका हैं।

पटवारी की हरकत का वीडियो बनाया तो छीन लिया मोबाइल
वही दूसरी और दहलोद पटवारी जीतराम का भी वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें पटवारी के पास पेंशन के फॉर्म पर हस्ताक्षर करवाने पहुंचे युवक के फॉर्म को पटवारी ने जमीन पर फेंक दिया। युवक ने वीडियो बनाना स्टार्ट किया मोबाइल छीन लिया। जब दूसरे मोबाइल में वीडियो बनाया तो पटवारी कमरे पर ताला लगाकर फरार हो गया। पटवारी रास्ते में अपने साथियों के साथ वापस आकर युवक के साथ मारपीट पर उतारू हो गया तथा भद्दी भद्दी गालियां निकाली।जिसकी शिकायत युवक ने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर की लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं होने से पटवारी के हौसले बुलंद है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended