संजीवनी टुडे

तमिलनाडु से फरार नाइजीरियाई सोनीपत में गिरफ्तार

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 13-09-2019 21:15:00

हरियाणा में सोनीपत की विशेष कार्य बल (एसटीएफ) टीम ने तमिलनाडु की त्रिची सेंट्रल जेल से फरार नाइजीरियाई नागरिक को शुक्रवार गिरफ्तार कर लिया।


सोनीपत। हरियाणा में सोनीपत की विशेष कार्य बल (एसटीएफ) टीम ने तमिलनाडु की त्रिची सेंट्रल जेल से फरार नाइजीरियाई नागरिक को शुक्रवार गिरफ्तार कर लिया।

यह खबर भी पढ़े: सायबर क्राइम इन्‍वेस्टीगेशन एवं इंटेलीजेंस समिट के दूसरे दिन विषय विशेषज्ञों ने दी जानकारी

एसटीएफ प्रभारी सतीश देशवाल ने बताया कि नाइजीरियन नागरिक स्टीवन जॉन दो साल पहले तमिलनाडु में मादक पदार्थ के नशे में झगड़ा करते हुए गिरफ्तार हुआ था। वीजा की अवधि खत्म होने के बाद वह गलत तरीके से रह रहा था। वह भारत में छह साल पहले आया था। उसे बाद में दो साल की सजा हो गई थी।

जॉन को तमिलनाडु की त्रिची सेंट्रल जेल में रखा गया था। बाद में वह जेल से फरार हो गया था। अब एसटीएफ को सूचना मिली थी कि तमिलनाडु की जेल से फरार जॉन दिल्ली और उससे सटे सोनीपत क्षेत्र में घूम रहा है। जिस पर एसटीएफ ने उसकी धरपकड़ का प्रयास शुरू कर दिया। टीम ने उसे सोनीपत के पास बहालगढ़ से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

एसटीएफ पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी जॉन तमिलनाडु की जेल में रहते हुए राजस्थान के नाथूराम गैंग के संपर्क में आ गया था। वह उसी गैंग की मदद से फरार हो गया था। बाद में वह वह हैदराबाद और आसपास के क्षेत्रों में नाथूराम गैंग के ठिकानों पर रहा। वहां से राजस्थान आ गया था। बाद मेें दिल्ली के बुराड़ी और एनसीआर के क्षेत्र में छिपता रहा है। फिलहाल वह कुछ दिन से बहालगढ़ क्षेत्र में रह रहा था। एसटीएफ ने बुराड़ी में भी उसकी तलाश में दबिश दी थी, लेकिन वह वहां से निकल गया था।

एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि वह छह साल पहले टूरिस्ट वीजा पर भारत आया था। वीजा खत्म होने के बावजूद वह वापस नहीं गया था। दो साल पहले उसे नशे में झगड़ा करते काबू कर लिया गया था। उसे दो मामलों में दो साल तक की सजा हो गई थी।

श्री देशवाल ने बताया कि जॉन को सजा होने के बाद से जब उसके बारे में पता लगाया तो उसके नाइजीरिया का होने का पता लगा था। जिस पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने इसकी सूचना नाइजीरिया के विदेश मंत्रालय को दी थी। उसकी सजा पूरी होने से पहले उसकी नाइजीरिया वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। इसी बीच वह सेंट्रल जेल से फरार हो गया था। जिसके बाद नाइजीरियाई विदेश मंत्रालय भी उसकी तलाश के लिए दबाव बना रहा था।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended