संजीवनी टुडे

राजस्थान में नई एक्सपोर्ट प्रमोशन पॉलिसी मार्च तक

संजीवनी टुडे 24-02-2018 19:49:00

Source: GOOGLE


जयपुर। उद्योग एवं राजकीय उपक्रम मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि राज्य सरकार के समन्वित, आक्रामक व योजनावद्ध प्रयासों से आज देश में औद्योगिक निवेश के क्षेत्र में राजस्थान देशी-विदेशी निवेशकों की पहली पंसद बन गया है। उद्योग और राजकीय उपक्रम मंत्री राजपाल सिंह शेखावत की मानें तो अगले महीने तक राज्य में नई एक्सपोर्ट प्रमोशन पॉलिसी तैयार कर केबिनेट के सम्मुख प्रस्तुत कर दी जाएगी। 

यह भी पढ़े वीडियो: AAP विधायक के बिगड़े बोल, कहा- ऐसे अधिकारियों को ठोकना चाहिए 

उद्योग मंत्री शेखावत विधानसभा में मांग संख्या-42 उद्योग पर हुई बहस का जवाब दे रहे थे। बहस के बाद सदन ने उद्योग विभाग की 6 अरब, 84 करोड़ 71 लाख 88 हजार रुपये की अनुदान मांगें ध्वनिमत से पारित कर दीं। मंत्री ने कहा कि नए विकसित होने वाले औद्योगिक क्षेत्रों को अच्छे औद्योगिक क्षेत्रों की तरह विकसित करते हुए अन्य आधारभूत सुविधाओं के साथ ही वाईफाई और स्मार्ट एलईडी सुविधायुक्त सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

मंत्री ने रीको और आरएफसी की कार्यप्रणाली में आमूलचूल बदलाव लाने और दिल्ली मुंबई इण्डस्ट्रीयल कोरिडोर को राजस्थान की तकदीर बदलने वाली परियोजना के रुप में विकसित करने की उन्होंने घोषणा की औद्योगिक भूमि के अवाप्ति नियमों में बदलाव लाते हुए उन्हें सरल बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र के लिए सरकारी भूमि डीएलसी दरोें की 25 प्रतिशत राशि पर प्राप्त करने के प्रयास किए जाएंगे। 

MUST VIDEO:

मंत्री ने कहा कि राज्य में औद्योगिक निवेश आकर्षित करने के अनवरत प्रयासों का परिणाम है। कि प्रदेश में रिसर्जेंट राजस्थान के दौरान किए गए निवेश के एमओयू को धरातल पर उतारने में समूचे देश में राजस्थान अग्रणी रहा है और मंत्री ने कहा कि हम भारत की ग्रोथ के साथ ही भारतीय की भी ग्रोथ सुनिश्चित करने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रहे हैं। रिसर्जेंट राजस्थान में प्राप्त 3.38 लाख करोड़ रु. के निवेश प्रस्तावों में से 2.02 लाख करोड़ रु. का कन्वर्जन है।

यह भी देखें: वीडियो : बीजेपी के इस सांसद ने स्कूल में शौचालय की अपने हाथो से की सफाई

सूत्रों के मुताबिक बताया कि निवेश प्रस्तावों के रुपांतरण में राजस्थान ने 60 प्रतिशत की दर हासिल की है। जो कि अपने आप में कीर्तिमान है। उन्होंने बताया कि यह समूचे देश में सबसे अधिक कन्वर्जन दर है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा एमओयू के ही 48 परियोजनाएं पाइप लाइन में है। 

sanjeevni app

More From state

Loading...
Trending Now