संजीवनी टुडे

पाक में घुस एयर स्ट्राइक के कारण एनडीए को मिला प्रचण्ड बहुमत

संजीवनी टुडे 24-05-2019 16:23:35


आरा। शाहाबाद की चार संसदीय सीटों आरा,बक्सर,सासाराम और काराकाट में नरेंद्र मोदी की सुनामी ने महागठबंधन को उखाड़ कर फेंक दिया है। बिहार में किशनगंज जैसी एक सीट को छोड़ दें तो पूरा बिहार नरेंद्र मोदी की सुनामी की चपेट में आ गया है और जातीय समीकरण पर पार्टी बनाकर दुकान चलाने वाले और अपनी राजनीति चमकाने का दम्भ भरने वाले क्षेत्रीय नेताओं के बिहार से पांव उखड़ गए हैं। शाहाबाद सहित पूरे बिहार में एनडीए के घटक दलों भाजपा,जदयू और लोजपा ने मिलकर ऐसी रणनीति बनाई की सन ऑफ मल्लाह का कहीं पता नही चला, बुझती हुई लालटेन टूट गयी,हाथ की ताकत कमजोर पड़ गई और छत का पंखा गिर गया। 

आरा संसदीय क्षेत्र में विकास हावी रहा और नमो की सुनामी ने जीत के अंतर को दूर तक उछाल दिया।यहां देश के ऊर्जा मंत्री आर के सिंह दुबारा चुनाव मैदान में उतरे तो आम आदमी ने कहा कि आरा के विकास को आगे बढ़ाना है।एक -एक कार्यकर्ता खून -पसीना बहाने को प्रचार में निकल पड़ा। मतदान के दिन बूथों पर एक -एक मतदाता को पहुँचाने और वोट दिलवाने की व्यवस्था की।सुबह से शाम तक लू के थपेड़ों की परवाह किये बिना भूखे प्यासे रहकर भी अंतिम समय तक  पोल करवाया। नतीजा रहा कि आर के सिंह को आरा विधानसभा क्षेत्र में 97509 वोट मिले तो उनके प्रतिद्वंद्वी भाकपा माले के प्रत्याशी राजू यादव को 58430 वोट मिले और यहां आर के सिंह 39079 वोटों से आगे रहे। इसी तरह बड़हरा में आर के सिंह को 95767 तो राजू यादव को 51497 वोट मिले और  यहां आर के सिंह 44270 वोटो से आगे रहे।संदेश में आर के सिंह को 72220 वोट मिले और राजू यादव को 68474 वोट मिले।यहां आर के सिंह 3746 वोट से आगे रहे। 

तरारी में आर के सिंह को 76542 वोट मिले तो राजू यादव को 63498 वोट मिले।यहां आर के सिंह 13044 वोट से आगे रहे। जगदीशपुर में आर के सिंह को 75907 वोट मिले तो राजू यादव को 64600 वोट मिले।यहां आर के सिंह 11307 वोटों से आगे रहे। शाहपुर में आर के सिंह को 84136 वोट मिले तो राजू यादव को 47999 वोट मिले।यहां आर के सिंह 36137 वोट से आगे रहे। अगियांव में आर के सिंह को 58025 वोट मिले तो राजू यादव को 63768 वोट मिले। इसी विधान सभा क्षेत्र में सिर्फ आर के सिंह 5743 वोट से पीछे रहे। आरा में आर के सिंह को जहां कुल 566480 वोट मिले तो राजू यादव को 419195 वोट मिले। अंततः भाजपा प्रत्याशी आर के सिंह 147285 वोटों के अंतर से जीत गए। बक्सर से अश्विनी चौबे,सासाराम से छेदी पासवान और काराकाट से महाबली सिंह भी नमो की सुनामी में जीत गए हैं। नरेंद्र मोदी की लोकसभा चुनाव में सुनामी ऐसे ही नही आई बल्कि विपक्ष ने नमो पर जितने कीचड़ उछाले,राष्ट्र विरोधियों का जितना खुलकर समर्थन किया उतना ही देश का युवा वर्ग आक्रामक होता गया। नरेंद्र मोदी ने जब अपने आपको देश का चौकीदार कहा तो कांग्रेस ने चौकीदार चोर है का नारा दिया।कांग्रेस के चौकीदार चोर है का नारे देते ही पूरे देश के युवा वर्ग ने मैं भी हूं चौकीदार का नारा दे दिया।

सोशल मीडिया पर हावी आज के युवा वर्ग के तेवर को कांग्रेस समझ नहीं पाई और देखते ही देखते देश के कोने -कोने तक हर गांव और हर बूथ पर चौकीदार खड़ा हो गया।इन्ही चौकीदारों ने चुनाव के दिन बूथों की ऐसी चौकीदारी कर दी कि ईवीएम पर दबने वाला सबसे अधिक हाथ कमल,तीर और झोंपड़ी के बटन से जुड़ गया।वीवीपैट में कमल,तीर और झोंपड़ी के निशान ही दिख रहे थे।विपक्ष के प्रत्याशियों की वोटिंग मंद पड़ गयी। चौकीदारों ने एक- एक बूथ जीतने का लक्ष्य तय कर लिया था और उनकी मेहनत रंग लाई तो परिणाम  पूरी दुनिया देख रही है। पुलवामा में  सेना के 42 जवानों को पाक आतंकियों द्वारा उड़ा देने की घटना से  भी हर हिंदुस्तानी आक्रोशित था.इस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो आग आपके भीतर जल रही है वही आग मेरे भीतर भी जल रही है। पुलवामा हमले का जवाब देने का पूरी दुनिया के समक्ष एलान करते हुए नरेंद्र मोदी ने वायु सेना को बुलाकर पाकिस्तान के भीतर घुस कर आतंकियों को नेस्तनाबूत कर देने का आदेश दे दिया। पूरा देश इंतजार कर ही रहा था कि मध्य रात्रि में भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुस कर बम बरसा दिए।आतंकियों को बर्बाद कर दिया। चुनाव में भाजपा को इसका भी जबरदस्त लाभ मिला।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

उधर कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के सबूत मांगे तो देश की जनता के सामने उनकी छीछालेदर हो गई और लोगों ने लोकसभा चुनाव में ऐसे दलों और पार्टियों को मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सकारात्मक सोंच और विपक्ष की नकारात्मक सोंच को देश की जनता ने समझा और यही कारण रहा कि एनडीए में शामिल दलों और उनके प्रत्याशियों को जनता ने आंख मूंद कर समर्थन दिया।परिणाम हुआ कि सासाराम में पूर्व उपप्रधानमंत्री जगजीवन राम की पुत्री और लोकसभा की पूर्व स्पीकर मीरा कुमार चुनाव हार गई। कल तक खून बहा देने की धमकी देने वाले महागठबंधन के नेता उपेन्द्र कुशवाहा ऑक्सीजन पर चले गए।यहां जदयू के महाबली सिंह चुनाव जीत गए। बक्सर में अश्विनी चौबे को लाख विरोध के बावजूद अन्ततः जनता ने लोकसभा भेज दिया तो आरा में विकास की लंबी लकीर खींचने वाले आर के सिंह के लिए एक -एक कार्यकर्ता ने  बूथों पर डट कर मतदान करा दिया और उन्हें रिकॉर्ड वोट से दिल्ली पहुंचा दिया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended