संजीवनी टुडे

मप्र: किसानों की दशा कैसे सुधारी जा सकती हैं? कांग्रेस ने CM Shivraj को दिये सात सुझाव

संजीवनी टुडे 19-04-2020 17:09:30

मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर प्रदेश की व्यवस्थाओं को लेकर लगातार सवाल उठा रही है।


भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर प्रदेश की व्यवस्थाओं को लेकर लगातार सवाल उठा रही है। पूर्व सीएम कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, जीतू पटवारी लगातार सीएम शिवराज को घेरने का प्रयास कर रहे हैं। इसी बीच अब पार्टी ने प्रदेश में किसानों की दशा सुधारने के लिए सात सुझाव दिये हैं। 

कांग्रेस नेता अवनीश भार्गव ने शनिवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसानों के बारे में दिखावटी घोषणाएं कर रहे हैं। अगर वह किसानों का भला चाहते हैं तो क्यों ऐसे कदम उठाएं जिनसे वास्तव में किसान को लाभ पहुंचे। उन्होंने सरकार को सात सुझाव देते हुए कहा है कि इन पर अमल करने से प्रदेश की कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को कोरोना संकट के दौरान महत्वपूर्ण लाभ पहुंचाया जा सकता है।

उन्होंने ये सुझाव दिये
 
1. किसानों को गेहूं की खरीदी पर 300 रुपये क्विंटल प्रोत्साहन राशि वर्तमान वर्ष 2020 की मिले और 160 रुपये पिछले वर्ष का गेहूं का बोनस मिले, जो कमलनाथ सरकार ने एक अप्रैल 2020 को किसानों के खाते में समायोजित करने का प्रावधान किया था।

2. खरीफ फसल 2019-20 की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों ने प्रीमियम अपनी जेब से जमा की जाए, जिसमें ऋणी और अऋणी कृषक शामिल हैं। वह प्रीमियम किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाए।

3. कमलनाथ सरकार द्वारा जय किसान ऋण माफी योजना की तीसरी किस्त एक जून तक किसानों के चालू खाते में डालने की घोषणा की गई थी, शिवराज सरकार उस पर अमल करते हुए वह राशि उनके खाते में डाले।

4. न्यूनतम समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों पर बेमौसम बारिश से गेहूं का रंग हल्का हुआ है, उसे रिजेक्ट नहीं करे और गेहूं पैदावार को देखते हुए समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की प्रति हेक्टेयर 25 प्रतिशत लिमिट अधिक की जाए।

5. सहकारी समितियों के माध्यम से वितरित ऋण को तीन साल के लिए कन्वर्शन में डाल दिया जाए। घरेलू और किसानों के कृषि पंप उपभोक्ताओं के बिजली के बिल 6 माह के माफ किये जाएं।

6. मनरेगा के मजदूरों को भुगतान तत्काल सुनिश्चित करें। नए कार्यों में 5 एकड़ तक के किसानों को कूप निर्माण में सम्मलित करे। खेत सडक़ योजना की भी स्वकृति प्रदान करे।

7. उद्यानकी फसलों के उत्पादक किसानों का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कवर करते हुए सब्जी फूल फल उत्पादक किसानों को राहत प्रदान करे और दुग्ध उत्पादकों को भी राहत की घोषणा करे।

यह खबर भी पढ़े: मध्यप्रदेश : सिंधिया ने कोटा में फंसी बेटी को सुरक्षित घर पहुंचाने का दिया आश्वासन, पिता ने लगाई थी गुहार

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended