संजीवनी टुडे

देश की एकजुटता के लिए आंदोलन जरूरी : ममता बनर्जी

संजीवनी टुडे 21-02-2020 21:45:33

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अंतरराष्ट्रीय भाषा दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा है कि देश की एकता और अखंडता बचाए रखने हेतु एकजुट आंदोलन जरूरी है। देश प्रिय पार्क में आयोजित भाषा दिवस कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मातृभाषा का सम्मान बचाए रखना जरूरी है



कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अंतरराष्ट्रीय भाषा दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा है कि देश की एकता और अखंडता बचाए रखने हेतु एकजुट आंदोलन जरूरी है। देश प्रिय पार्क में आयोजित भाषा दिवस कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मातृभाषा का सम्मान बचाए रखना जरूरी है लेकिन मातृभूमि की भी रक्षा करना जरूरी है। हम सभी लोगों को एकजुट होकर ऐसा माहौल बनाना होगा कि यहां रहने वाले सारे लोग खुद को सुरक्षित महसूस करें। 

देश अखंड रहे इसके लिए एकजुटता जरूरी। इसके लिए लड़ाई चाहे जितनी कठिन हो लड़नी होगी। दरअसल हर साल 21 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस मनाया जाता है। इस साल भी इसका आयोजन हुआ था। यहां पहुंची मुख्यमंत्री ने भाषा दिवस के शहीदों को श्रद्धांजलि भी दी। इस दौरान संबोधन करते हुए ममता बनर्जी ने संशोधित नागरिकता अधिनियम और एनआरसी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भाषा केवल एक-दूसरे से संपर्क करने का जरिया नहीं है। बल्कि एक भावना है जिसमें सद्भावना, एकता समाहित है। उन्होंने कहा कि सर्वधर्म, सर्व, पंथ और सब जातियों को एक साथ लेकर चलना होगा। उन्होंने कहा कि देश हमारी माता है और यहां रहने वाले सारे उसके संतान हैं। सभी को सुरक्षित रहने का अधिकार है। 

मुख्यमंत्री ने की कई घोषणाएं -
इस दौरान कार्यक्रम से मुख्यमंत्री ने कई घोषणाएं की है। उन्होंने कहा कि आर्ट कॉलेज के 15 पूर्व मॉडल को चयनित कर राज्य सरकार उनके लिए पेंशन देगी। प्रति महीने डेढ़ हजार रुपये का पेंशन राज्य सरकार देगी। इसके अलावा जूता-चप्पल सिलाई करने वाले मोची को ध्यान में रखते हुए दो चर्म तीर्थ शुरू किया गया है। एक जान बाजार में और दूसरा वानतला में। यहां चमड़े का बैग और जूता तैयार किया जाएगा और इसके साथ जुड़े रहने वाले श्रमिकों को रहने और रोजगार की व्यवस्था भी सरकार करेगी। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि केवल वानतला में पांच लाख श्रमिकों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि चमड़े के कारोबार से जुड़े लोग समाज के पूरे निचले तबके के होते हैं। इनका विकास और कल्याण करना ही हमारी सरकार की प्राथमिकता है।

यह खबर भी पढ़ें: झारखंड/ किशोरी से दुष्कर्म के बाद जहर देकर हत्या, आरोपी फरार

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended