संजीवनी टुडे

फरिश्ते की फरियाद पर बेसहारा मां-बेटी को मिला सहारा

संजीवनी टुडे 12-07-2019 15:29:35

फरिश्ते की फरियाद पर बेसहारा मां-बेटी को मिला सहारा


गुरुग्राम। फरिश्ते ग्रुप ने एक बेसहारा महिला व उसकी बेटी को आश्रय दिलाने दिया है। 23 वर्षीय बेसहारा महिला, जिसके साथ एक 10 महीने की बेटी भी थी, उसके आश्रय को लेकर फरिश्ते ग्रुप ने अदालत में पैरवी की। अदालत ने उसे नारी निकेतन करनाल भेजने के आदेश दिए, जबकि पीडि़ता वहां नहीं जाना चाहती थी। फरिश्ते ग्रुप की एडवोकेट अंजू रावत नेगी, मुख्य सचिव व राष्ट्रीय अध्यक्ष लीगल कुलभूषण भारद्वाज एडवोकेट ने कोर्ट में पीडि़ता के आग्रह पर अर्जी लगाई और उसे गुरुग्राम में ही रहने का आग्रह का आग्रह किया। 

उन्होंने अदालत से अपील की कि पीडि़ता को सिविल लाइन गुरुग्राम में कामकाजी महिला हॉस्टल में जगह दी जाए, ताकि वह अपने रोजगार का प्रबंध कर सके। फरिश्ते ग्रुप में पीडि़ता को आर्थिक सहायता देने के वचन पर कोर्ट ने पीडि़ता को कामकाजी महिला आवास में रहने की अनुमति दी। ऐसा पहली बार हुआ है जब कोर्ट ने नारी निकेतन भेजने के फैसले को पलटकर गुरुग्राम में ही रहने की व्यवस्था करने के आदेश किये। उपायुक्त के निर्देश पर वहां पर पीडि़ता के रहने का बंदोबस्त किया गया है। 

मुस्लिम डॉक्टर से किया था प्रेम विवाह
पीडि़ता ने अपनी आपबीती में बताया कि दो वर्ष पहले उसने एक मुस्लिम डाक्टर से प्रेम विवाह किया था। शादी के बाद डाक्टर पति ने उसे प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। उसे अपने उद्देश्य पूरा करने के लिए एक वस्तु की तरह इस्तेमाल किया। दूसरों पर झूठे रेप के मुकदमे दर्ज करवाए। कमरे में बंद करके रखा और मारपीट समेत कई तरह से प्रताडि़त किया। इस दौरान उसे एक बेटी भी हो गई। फरिश्ते गु्रप के संपर्क में आने के बाद यह सब आपबीती पीडि़ता ने सुनाई। मदद की गुहार लगाई इसके बाद अंजू रावत, कुलभूषण भारद्वाज व पंकज वर्मा चेयरमैन ने पीडि़त की मदद की और आरोपी को गिरफ्तार करवाकर जेल भिजवाया। शुक्रवार को संस्था के संरक्षक पंकज गुप्ता ने बताया कि फरिश्ते ग्रुप पीडि़ता की निशुल्क पैरवी की है। उसकी हर संभव मदद भी करेगा।  

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now