संजीवनी टुडे

पार्टी से निष्कासित विधायक ने सुरक्षा को लेकर की दायर याचिका, नहीं हुई सुनवाई

संजीवनी टुडे 25-07-2019 15:38:43

खानपुर के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की सुरक्षा को लेकर दायर याचिका पर गुरुवार को सुनवाई नहीं हो पायी। याचिका पर सुनवाई के लिये अब नयी पीठ का गठन किया जाएगा।


नैनीताल। भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित हरिद्वार के खानपुर के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की सुरक्षा को लेकर दायर याचिका पर गुरुवार को सुनवाई नहीं हो पायी। याचिका पर सुनवाई के लिये अब नयी पीठ का गठन किया जाएगा। 

निष्कासित विधायक चैंपियन की ओर से केन्द्र सरकार की ओर से उनकी वाई प्लस सुरक्षा को हटाये जाने को लेकर याचिका दायर की गयी है। न्यायमूर्ति आलोक कुमार और न्यायमूर्ति रवीन्द्र मैठानी की युगलपीठ में आज इस मामले पर सुनवाई होनी थी लेकिन पीठ ने आज इस मामले को सुनने से मना कर दिया। माना जा रहा है कि मुख्य न्यायाधीश अब इस मामले की सुनवाई के लिये नयी बेंच का गठन करेंगे। 

विधायक चैंपियन की ओर से दायर याचिका में कहा गया कि केन्द्र और राज्य सरकार ने राजनीतिक विद्वेष के चलते उनकी सुरक्षा को हटाया है और राज्य सरकार ने उनके हथियारों के लाइसेंस निरस्त किये हैं। चैंपियन की ओर से राज्य सरकार पर उनके साथ भेदभाव करने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने हथियारों के मामले में किसी भी प्रकार का कोई अपराध नहीं किया है। इससे उनके जीवन को खतरा बढ़ गया है।

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने हाल ही में विधायक चैंपियन को पार्टी से छह साल के निष्कासित कर दिया था। चैंपियन पर पार्टी अनुशासन के खिलाफ लगातार कदम उठाने का आरोप लगाया गया था। कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर चैम्पियन का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें चैम्पियन आधुनिक हथियारों को हवा में लहरा रहे थे और अपने समर्थकों के साथ संगीत की धुन पर नृत्य कर रहे थे। 

उन पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इस दौरान उत्तराखंड की जनता के लिये अभद्र भाषा का भी प्रयोग किया। तीन पिस्टल और एक आधुनिक राइफल के साथ किया गया उनका नृत्य तब काफी चर्चा में रहा था। मीडिया ने भी विधायक चैंपियन की इस हरकत को काफी प्रमुखता से प्रचारित किया था। राजनीतिक जगत पार्टी को काफी फजीहत उठानी पड़ी थी। इसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं खासकर केन्द्रीय नेताओं ने चैंपियन की इस हरकत को गंभीरता से लिया और उनके खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा था। 

इससे पहले भी पार्टी ने श्री चैंपियन को उनके बड़बोलेपन के लिये कई बार चेतावनी दी थी। साथ ही पार्टी ने उन्हें निलंबित कर दिया था। वीडियो वायरल होने के बाद हरिद्वार पुलिस प्रशासन भी हरकत में आया और उसने चैंपियन के हथियारों के लाइसेंस निलंबित कर दिये थे। 

चैंंपियन भाजपा के झबरेड़ा के विधायक देशराज कर्णवाल के साथ भी राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के चलते विवादों में रहे हैं। तब भी पार्टी को नुकसान उठाना पड़ा था। दोनों का विवाद इस कदर बढ़ गया था कि पार्टी और सरकार को बीचबचाव करना पड़ा था। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को खुद बचाव करना पड़ा था लेकिन अगले ही दिन फिर दोनों का विवाद सतह पर आ गया है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended