संजीवनी टुडे

खून से लथपथ पैरों के दर्द से कराहता मिला प्रवासी मजदूर

संजीवनी टुडे 29-05-2020 08:18:44

खून से लथपथ पैरों के दर्द से कराहता मिला प्रवासी मजदूर


झांसी। गुरुवार को मऊरानीपुर से गुरसरांय मार्ग पर पड़े हुए एक प्रवासी मजदूर की करुण कहानी दिल दहला देने वाली है। मजदूर की उम्र करीब 50 वर्ष थी। नौतपा के चैथे दिन 46 डिग्री को पार कर रहे पारे के बीच सड़क किनारे पड़े मजदूर को देख किसी के मुंह से आह निकलना लाजमी था। चिलचिलाती धूप में पैदल चल कर अपने गन्तव्य की ओर जा रहे इस अधेड़ के पैरों में न चप्पल थी और न ही शरीर पर ठीक सा कोई कपड़ा। वह ठीक से कुछ बताने में भी असमर्थ था। उसके खून और मवाद से भरे पैरों के घाव ही उसकी कहानी बयां कर रहे थे। जैसे इसकी जानकारी एक समाजसेवी को मिली तो उसने वहां पहुंचकर अपनी गाड़ी से उसे टोढ़ी फतेहरपुर स्वास्थ केन्द्र पहुंचाया। उसे कपड़े पहनाए। चप्पल पहनाते हुए उसे भोजन भी कराया। प्रवासी मजदूर की दुर्दशा को देख निकलने वाले राहगीर शासन को कोसते हुए नजर आए। 

प्रवासी मजदूर अपना नाम मुन्ना लाल साहू और सागर बता रहा है। उसके अनुसार वह एक साइकिल की दुकान पर काम करने के अलावा कुछ बता पाने में असमर्थ है। न तो वह यह बता पा रहा है कि कहां जाना है। और न ही वह कहां से आ रहा है इसकी जानकारी ही दे पा रहा है। प्रवासी मजदूर की भूख प्यास के कारण हालत बड़ी खराब होने से कुछ और बता पाने की स्थिति में नही है। इसकी जानकारी सबसे पहले ग्राम महेवा निवासी अर्पित शर्मा को हुई। अर्पित ने जब घायल प्रवासी बुजर्ग मजदूर को देखा तो छाया में बैठा कर खाना खिलाया और पानी पिलाया।

समाजसेवी पुष्पेन्द्र ने पहनाए कपड़े व चप्पल
टोड़ीफतेहपुर निबासी समाजसेवी पुष्पेन्द्र पाण्डेय को जब प्रवासी मजदूर के घायल होने की जानकारी मिली तो तत्काल जाकर घायल पड़े प्रवासी अधेड़ मजदूर को पहनने के लिए कपड़े,पैरों के लिए चप्पल एवं खाना खिलाकर ईलाज के लिए नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र टोड़ी फतेहपुर लाये। यहां चैकीदार द्वारा बताया गया कि यहाँ डॉक्टर की नियुक्ति नही है। इलाज हो पाना सम्भव नही है। 

जब प्रवासी मजदूर का इलाज कराये जाने की जानकारी चिकित्सा अधीक्षक गुरसरांय डॉ रविन्द्र सिंह से की बताया गया कि स्वास्थ्य केंद्र गुरसरांय लाओ तभी इलाज हो पाना सम्भव है। अवधेश तिवारी ने डायल 108 पर कॉल कर एम्बुलेन्स को सूचना दी एम्बुलेंस द्वारा प्रवासी मजदूर को इलाज हेतु स्वास्थ्य केन्द्र गुरसरांय ले जाया गया है। समाचार लिखे जाने तक प्रवासी मजदूर के बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा था।

यह खबर भी पढ़े: लॉकडाउन-05 के मुद्दे पर अमित शाह ने की मुख्यमंत्रियों से बात

यह खबर भी पढ़े: भारत ने राम मंदिर निर्माण पर पाकिस्तान के बयान को नकारा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended