संजीवनी टुडे

जन-जन तक पहुंचाएं सड़क सुरक्षा का संदेश: परिवहन आयुक्त

संजीवनी टुडे 24-04-2018 09:32:46

जयपुर। सड़क सुरक्षा सप्ताह सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने और स्वयं जागरूक रहने का एक अवसर हो सकता है लेकिन यह भावना इस सप्ताह तक सीमित नहीं रहनी चाहिए। सड़क सुरक्षा एक वर्ष पर्यन्त चलने वाली व्यापक गतिविधि है। जब तक सड़क सुरक्षा की भावना प्रदेश के हर गांव-शहर, छोटे कस्बों तक नहीं पहुंचेगी, राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों के आंकड़ों में कमी लाना मुश्किल है। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं परिवहन आयुक्त श्री शैलेन्द्र अग्रवाल ने सोमवार प्रातः जवाहर सर्किल पर 29वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के शुभारम्भ के अवसर पर यह विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सड़क दुर्घटना से औसतन हर घंटे कोई न कोई मौत होती है। पिछले 12 वर्ष में लगातार इसमें बढोतरी होती रही है लेकिन दो साल में यह बढत रुकी है। यह राहत की बात तो है लेकिन लक्ष्य तभी पाया जा सकेगा जब जन-जन तक सड़क सुरक्षा का संदेश पहुंचेगा।  

उन्होंने कहा कि ज्यादातर दुर्घटनाएं दोपहिया वाहनों पर बिना हेलमेट सवारी के कारण होती है। शहरों में फिर भी इस नियम को अपनाया गया है लेकिन गांवों में आज भी हेलमेट पहनने को सुनिश्चित नहीं किया जा सका है। इसी प्रकार दुर्घटना के समय लोग निर्मूल भय से पीडितों की मदद से कतराते हैं। इस क्षेत्र में काम कर रहे एनजीओ यह बीड़ा उठाएं और लोगों को सही स्थिति बताएं। 

उन्होंने बताया कि अब समर्पित कोष के गठन के बाद सड़क सुरक्षा गतिविधियों के लिए फण्ड की कमी नहीं है। इस वर्ष भी 80 करोड़ रुपए का फण्ड है।  इसके उपयोग के लिए परिणाम आधारित कार्यक्रमों  की आवश्यकता है। उन्होंने एनजीओ को सुझाव और प्रस्ताव देने का आह्वान किया। 

आरएसआरटीसी के प्रबन्ध निदेशक श्री कुलदीप रांका ने कहा कि सड़क सुरक्षा के आधारभूत नियमों के बारे में सभी जानकारी रखते हैं लेकिन फिर भी उल्लंघन कर बैठते हैं। इसलिए सड़क सुरक्षा सप्ताह जैसे आयोजन उनके मन में सड़क सुरक्षा की भावना को जगाए रखने में उपयोगी हैं। 

परिवहन उपायुक्त, श्रीमती निधि सिंह ने कहा कि सड़क सुरक्षा की धुरी आम आदमी है और अगर परिवहन नियमों की पालना करते हुए वह सड़क पर स्वंय सुरक्षित रहे, दूसरों को सुरक्षित रखे और घायलों की त्वरित मदद करे तो बड़ा बदलाव संभव है। इस अवसर पर आरटीओ सड़क सुरक्षा श्री अनिल जैन की काव्य रचना का विमोचन किया गया एवं उन्होंने ‘चलो सड़क पर सदा संभलकर जब हो आप सफर पर, ध्यान रहे बस इतना कोई राह देखता घर पर’ काव्य रचना सुनाईं।

इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव ने विंटेज कार रैली एवं ड्राइविंग स्कूलों के वाहनों की रैली  को शहर में सड़क सुरक्षा का संदेश देने के लिए हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। नुक्कड़ नाटक फर्क तो पड़ता है एवं अन्य नुक्कड़ नाटकों का मंचन कर सड़क सुरक्षा का संदेश दिया गया। 

इस अवसर पर आरटीओ जयपुर श्रीमती कल्पना अग्रवाल, परिवहन मंत्री के विशिष्ट सहायक श्री जमील अहमद कुरैशी, डीएसपी टे्रफिक श्री राहुल वशिष्ट, पुलिस, सानिवि एवं अन्य हितधारक विभागों के अधिकारी, विभिन्न एनजीओ एवं ऑटोमोबाइल एसोसिएशन के प्रतिनिधि एवं अन्य लोग उपस्थित थे। 

मात्र 29.21 लाख में जगतपुरा जयपुर में 100 वर्गगज में विला Call: 9314301194

MUST WATCH

कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सड़क सुरक्षा शपथ दिलाने से पहले परिवहन आयुक्त श्री शैलेन्द्र अग्रवाल ने स्वयं सड़क सुरक्षा नियमों की पूर्णतः पालना करने का वचन दिया। उन्होने कहा कि वे जब भी गाड़ी चलाएंगे, सड़क सुरक्षा के सभी नियमों का ध्यान रखेंगे। परिवहन नियमों का उल्लंघन कर रेड लाइट क्रासिंग, गलत दिशा में गाड़ी चलाने, तेज गति से वाहन चलाने जैसे कार्य कभी नहीं करेंगे। उन्होंने उपस्थितों से कहा कि अगर वे स्वयं को ही जिम्मेदार बना लें तो इसे देख कर और लोग भी बदलेंगे। स्वयं सुरक्षित रहेंगे औरों को सुरक्षित रख पाएंगे। इसके बाद श्री अग्रवाल ने सभी को सड़क सुरक्षा शपथ दिलाई। 

Rochak News Web

More From state

Trending Now
Recommended