संजीवनी टुडे

भारत बन्द के दौरान दर्ज़ हुए मुकदमो को लेकर मीणा समाज ने सचिन पायलट से की मुलाकात, रखी ये मांग

संजीवनी टुडे 08-11-2019 20:49:05

संस्था के महासचिव अनिल गोठवाल ने बताया कि आज भी पिछली सरकार में भारत बंद के दौरान एससी/एसटी के निर्दोष लोगों पर 61 मुकदमे पुलिस अनुसंधान में पेंडिंग है


जयपुर। आज डॉ. अम्बेडकर मेमोरियल वेलफेयर सोसायटी एवं आदिवासी मीणा समाज का प्रतिनिधि मंडल पी.सी.सी. जयपुर में जनसुनवाई में सैकड़ों लोगों के साथ पहुंचा। 

यह खबर भी पढ़े: एसपीजी सुरक्षा हटाना गांधी परिवार के जीवन के साथ खिलवाड़, बदले की भावना से लिया गया निर्णंय: कांग्रेस

माननीय उपमुख्यमत्री सचिन पायलट, मंत्री, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग रमेश चंद मीणा, वेद प्रकाश सोलंकी, विधायक चाकसू को अवगत कराया कि 2 अप्रैल 2018 भारत बन्द के दौरान राजस्थान प्रदेश में पुलिस द्वारा कई झूठे मामले दर्ज कर अनुसुचित जाति/जनजाति वर्ग के करीब 2862 व्यक्तियों को नामजद कर 630 निर्दोष लोगों को षड़यंत्रपूर्वक घरों से उठाकर थानों में बंद कर दिया उनके साथ अमानवीय अत्याचार हुए। 

संस्था के महासचिव अनिल गोठवाल ने बताया कि आज भी पिछली सरकार में भारत बंद के दौरान एससी/एसटी के निर्दोष लोगों पर 61 मुकदमे पुलिस अनुसंधान में पेंडिंग है उनमे एफ.आर. दिए जाने एवं 81 मुकदमे न्यायालयों में विचाराधीन है जिन्हें विड्रॉ किये जाने की मांग की गयी है | इस पर माननीय उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शीघ्र ही सकारात्मक कार्यवाही कर न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। 

प्रतिनिधि मंडल में संयुक्त सचिव चन्द्र प्रकाश बैरवा, जिला सचिव धर्मराज बैरवा सिंगोर, आदिवासी प्रगतिशील मीणा संघ के फ़तेह राम मीणा, राम नारायण मीणा DIG, महावीर खडकवाल, श्रीनारायण चन्द्रवाल, मोहन जेवरिया, यतेन्द्र बैरवा आदि सैकड़ों की संख्या में उपस्थित रहे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended