संजीवनी टुडे

एमडीयू की बीटैक की 175 उत्तर पुस्तिका बरामद, 40 से 50 हजार लेकर फेल विद्यार्थी के बढ़ा रहे थे नंबर

संजीवनी टुडे 22-03-2019 21:00:12


रोहतक। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय की बीटैक परीक्षा में री-चैकिग में रूपये लेकर पास कराने के मामले का भांड़ाफोड़ करते हुए पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि तीनो आरोपियों के पास से एमडीयू की बीटैक विभाग की करीब 175 उतर पुस्तिकाएं बरामद हुई है। जांच पड़ताल में यह बात सामने आई कि उतर पुस्तिकाओं में नंबर बढ़ाने के नाम पर चालीस से पचास हजार रुपये एक विद्यार्थी से लेते थे। आरोपियों में बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय के सिविल इंजीनियर विभाग के प्रोफेसर भी शामिल है।

बताया जा रहा है कि एमडीयू से सिविल इंजीनियरिंग के पेपर री चैकिंग व री वेलवेशन के लिए जुलाना स्थित इंस्टीटयूट के एचओडी के पास जाते थे और एचओडी साठगांठ करके उतर पुस्तिकाओं को बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर के पास भेजते थे। प्रोफेसर व उसके दो अन्य साथी इस गिरोह को चला रहे थे। विद्यार्थियों से सम्पर्क कर आरोपी उन से अंक बढाने का सौदा तय करते थे। पुलिस के अनुसार अपराध जांच तीन की विशेष टीम को सूचना मिली कि एमडीयू की बीटैक परीक्षा में अंक बढ़ाने के लिए अस्थल बोहर स्थित गली नंबर तीन के एक कार्यालय में गौरखधंधा चल रहा है।  

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने छापा मारा तो मौके पर तीन युवक बीटैक की उतर पुस्तिकाओं में छेड़छाड़ कर रहे थे। पुलिस ने उनके कब्जे से करीब 175 उतर पुस्तिकाएं बरामद की। पुलिस तीनो आरोपियों को आईएमटी थाना ले आई। पूछताछ के दौरान आरोपियों की पहचान बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय के सिविल इंजिनिरियग विभाग के असिस्टैन्ट प्रोफेसर पवन सांगवान, फरीदाबाद निवासी दीपक व मातनहेल निवासी अजय के रूप में हुई। पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि एमडीयू के बीटैक विभाग की उतर पुस्तिकाएं री चैकिंग व री वेलवेशन के लिए जुलाना स्थित एक इंस्टीटयूट के एचओडी डॉ. वीके आहूजा के पास आती थी और डाक्टर वीके आहूजा बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय के असिस्टैन्ट प्रोफेसर पवन सांगवान को चैकिंग के लिए देते थे और दोनों रुपये लेकर उतर पुस्तिकाओ में अंक बढ़ाने का गौरखधंधा चला रहे थे।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इस काम में उनके साथ सिसाना निवासी विनित भी शामिल है। पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि विनित ही विद्यार्थियों से सम्पर्क करता था और उनसे अंक बढाने के नाम पर 40 से 50 हजार रुपये में सौदा करते थे। गिरफ्तार आरोपियों में दीपक व अजय उतर पुस्तिकाओं में लिखाई का काम करते थे। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दो टीमे संबंधित स्थानो पर छापेमारी कर रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended