संजीवनी टुडे

शहीद दिवस रैली में दिखेगी ममता नहीं पीके की रणनीति

संजीवनी टुडे 18-07-2019 15:41:48

ममता बनर्जी कोलकाता के शहीद मीनार मैदान में हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस कार्यक्रम का आयोजन करती हैं।


कोलकाता। ममता बनर्जी कोलकाता के शहीद मीनार मैदान में हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस कार्यक्रम का आयोजन करती हैं। ऐसा वे पिछले 26 साल से करती आ रही हैं। ममता के लिए शहीद दिवस का कार्यक्रम राजनीतिक एजेंडा तय करने का जरिया और राजनीतिक शक्ति प्रदर्शन का मंच होता है। विपक्ष में रहने के दौरान वे ऐसा करती रहीं और अब वे मुख्यमंत्री के तौर पर भी अपनी सरकार के कामकाज को गिनाने और शक्ति प्रदर्शन के लिए इस मंच का इस्तेमाल करती हैं। तृणमूल सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस बार शहीद दिवस के मंच पर भले ही हर साल की तरह मुख्य वक्ता के तौर पर मुख्यमंत्री होंगी लेकिन उसमें जो रणनीति प्रकट होगी, उसमें प्रशांत किशोर की झलक रहेगी। उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में प्रशांत किशोर को पार्टी के रणनीतिकार के तौर पर जोड़ा है। तृणमूल के प्रदेश अध्यक्ष सुब्रत बक्शी से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही हमारी सबसे बड़ी रणनीतिकार हैं । 

जब पूछा गया कि तब प्रशांत किशोर को क्यों नियुक्त किया गया है? क्या आप लोग आश्वस्त नहीं है कि विधानसभा चुनाव में आपकी जीत होगी? इस पर उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर एक अच्छे रणनीतिकार हैं। लोकसभा चुनाव में हमारी पार्टी का प्रदर्शन थोड़ा खराब रहा इसलिए अधिक से अधिक युवाओं तक पहुंचने और पार्टी को मजबूती देने के लिए उनकी सलाह मददगार जरूर बनेगी लेकिन रणनीति ममता बनर्जी की ही रहेगी। उनसे जब पूछा गया कि क्या 2021 का विधानसभा चुनाव अधिक चुनौतीपूर्ण है तब उन्होंने कहा कि हमारे लिए कोई भी चुनाव चुनौतीपूर्ण नहीं है। मुख्यमंत्री के साथ बंगाल की जनता मजबूती से खड़ी है और हम फिर से बंगाल में अपनी ताकत हासिल कर लेंगे।

दूसरी तरफ शहीदी दिवस के मद्देनजर भाजपा ने चेतावनी दी है कि 21 जुलाई के  कार्यक्रम में शामिल होने के लिए घरों से निकलने वाले तृणमूल नेताओं को रास्ते में रोककर उनसे कट मनी लौटाने की मांग की जाएगी। इस बीच बड़े पैमाने पर सत्तारूढ़ तृणमूल के नेता जमीनी स्तर पर तृणमूल छोड़कर भाजपा में चले गए हैं। इसलिए माना जा रहा है कि इस बार शहीद दिवस की रैली में हर साल की तुलना में कम लोग आएंगे लेकिन सुब्रत ने इस दावे को भी खारिज किया। उन्होंने कहा कि इस बार 26 सालों का सबसे बड़ा आयोजन होगा। बहरहाल मंच बनाने का काम जोरों पर है। मैदान में तीन मंच बनाए गए हैं। हालांकि शहीद दिवस के कार्यक्रम में प्रशांत किशोर उपस्थित रहेंगे या नहीं इस पर संशय है।

भाजपा ने रखी है नजर
 गुरुवार को भाजपा की प्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार ने कहा कि तृणमूल की रणनीति पर भाजपा ने करीब से नजर रखी है। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर की नियुक्ति  मुख्यमंत्री के आत्मविश्वास की कमी को दर्शाता है। इसका मतलब है कि अब उन्हें अपनी राजनीति या जनता के लिए किए गए कार्यों पर भरोसा नहीं रह गया है। ममता ने केवल भ्रष्टाचार और अनैतिक काम किया है। जगह-जगह हिंसा फैलाई है और लोगों ने तय कर लिया है कि उन्हें सत्ता से हटाना है। भले ही प्रशांत किसी या किसी और की मदद से वह तरह तरह की रणनीति बना लें लेकिन बंगाल की सत्ता से उनका जाना तय है।  भाजपा ने पूरी परिस्थिति पर नजर रखी है। लोगों के हित में हम अपना अगला कदम उठाएंगे। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended