संजीवनी टुडे

भगवान महाकाल आज शिव तांडव स्वरूप में देंगे दर्शन, महाशिवरात्रि की तैयारियां पूर्ण

संजीवनी टुडे 20-02-2020 10:54:28

उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में महाशिवरात्रि से नौ दिन पहले शुरू हुआ शिव नवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है।


उज्जैन। उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में महाशिवरात्रि से नौ दिन पहले शुरू हुआ शिव नवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस दौरान भगवान महाकाल विशेष श्रृंगार कर अगल-अलग स्वरूपों में अपने भक्तों को दर्शन दे रहे हैं। शिव नवरात्रि के आठवें दिन यानी आज गुरुवार को भगवान महाकाल शिव-तांडव रूप में श्रद्धालुओं को दर्शन देंगे। वहीं, महाकालेश्वर मंदिर में शुक्रवार, 21 फरवरी को महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। इसकी सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं।

मंदिर प्रबंधन समिति के प्रशासक एसएस रावत ने बताया कि महाकालेश्वर मंदिर में गत 13 फरवरी से शिव नवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। आज शिव नवरात्रि का आठवां दिन है। इस दौरान शासकीय पुजारी घनश्याम शर्मा के आचार्यत्व में 11 ब्राह्मणों द्वारा महाकालेश्वर भगवान का अभिषेक एकादश-एकादशनी रूद्रपाठ से किया जाएगा। इसके बाद सायं पूजन के पश्चात बाबा महाकाल को नवीन वस्त्र धारण करवाये गये। इसके अतिरिक्त मेखला, दुपट्टा, कटरा, मुकुट, छत्र, मुण्ड माला एवं फलों की माला आदि धारण करा कर भगवान महाकाल को श्रृंगारित किया जाएगा। सायं पूजन के बाद बाबा महाकाल शिव-तांडव रूप में श्रद्धालुओं को दर्शन देंगे। 

उन्होंने बताया कि वहीं, शुक्रवार, 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाएगा। इस दिन भगवान महाकाल का सतत जलधारा से अभिषेक होगा। दोपहर 12 बजे गर्भगृह में उज्जैन तहसील की ओर से पूजा की जाएगी व सायं 04 बजे होलकर एवं सिंधिया स्टेट की ओर से पूजन होगा। रात्रि में 11 बजे से गर्भगृह में भगवान महाकाल का महाअभिषेक किया जाएगा। उसके पश्चात भगवान को पुष्प मुकुट धारण करवाया जाएगा। अगले दिन 22 फरवरी को दोपहर में 12 बजे भस्मारती होगी, जो कि वर्ष में एक बार ही दोपहर में होती है।

महाशिवरात्रि के लिए सज गया भगवान महाकाल का दरबार
विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व की तैयारियां लगभग पूर्ण हो चुकी हैं। इस दिन यहां दूरदराज से बड़ी संख्या में श्रद्धालु भगवान महाकाल के दर्शन के लिये मंदिर आएंगे। बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक दक्षिणमुखी महाकालेश्वर मंदिर के शिखर, परिसर में अन्य मंदिरों के शिखरों तथा मंदिर की रंगाई-पुताई से भगवान महाकाल का दरबार सजकर तैयार हो गया है। 

दर्शनार्थियों को आसानी से भगवान के दर्शन हो सके, इसके लिए जिला प्रशासन, मंदिर प्रबंधन तथा पुलिस द्वारा व्यापक इंतजाम किये गये हैं। दर्शनार्थियों की सुविधाओं को ध्यान में रखा जाएगा। दर्शनार्थियों के लिये पेयजल, गर्मी को देखते हुए शामियाना आदि की व्यवस्था की जा रही है। दर्शनार्थियों के लिये दर्शन व्यवस्थापक की अलग-अलग व्यवस्था की गई है।

यह खबर भी पढ़ें:​ आज से शुरू होगी काशी महाकाल एक्सप्रेस, महाशिवरात्रि पर यात्रियों को मिलेंगे तोहफे

यह खबर भी पढ़ें:​ नौसेना के लिए 'रोमियो' हेलिकॉप्टर खरीदेगा भारत, सरकार ने दो अरब डॉलर की डील को दी मंजूरी

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended