संजीवनी टुडे

लॉकअप हत्याकांड : पूर्व एसपी को हाईकोर्ट से मिली राहत

संजीवनी टुडे 18-04-2019 22:43:08


शिमला। कोटखाई के बहुचर्चित गुड़िया रेप एंड मर्डर केस से जुड़े सूरज लॉकअप हत्या प्रकरण के आरोपित शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी को हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने गुरुवार को जमानत दे दी है। हाईकोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर ने गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान नेगी की जमानत के आदेश पारित किए। नेगी बीते डेढ़ साल से शिमला के कंडा जेल में बंद हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

ु

सूरज लॉकअप हत्या मामले में नेगी पर झूठी एफआईआर बनाने, सबूतों के साथ छेड़छाड़ करने और तथ्यों को छुपाकर सूरज के विरुद्ध षड्यंत्र रचने का आरोप है। सीबीआई ने 16 नवम्बर 2017 को उन्हें गिरफ्तार किया था। जिसके बाद से वे न्यायिक हिरासत में चल रहे थे। हाईकोर्ट का यह आदेश सूरज लॉकअप मामले के एक अन्य आरोपित पूर्व आईजी एच जहूर जैदी को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद आया है। 

सुप्रीम कोर्ट ने बीते पांच अप्रैल को जैदी को जमानत दी थी। इसी फैसले को आधार बनाते हुए प्रदेश हाई कोर्ट ने डीडब्ल्यू नेगी को जमानत देने का निर्णय सुनाया। नेगी ने साल 2018 के फरवरी महीने में जमानत के लिए हाईकोर्ट में अर्जी लगाई थी लेकिन याचिका पर सुनवाई काफी समय तक टलती आ रही थी, जिस वजह से उन्हें जमानत नहीं मिल रही थी। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

उल्लेखनीय है कि जिला शिमला के कोटखाई में दसवीं की एक छात्रा की दुष्कर्म एवं हत्या मामले में गिरफ्तार सूरज की पुलिस लॉकअप में 19 जुलाई 2017 को मौत हो गई थी। सीबीआई ने इस मामले में हाईकोर्ट के आदेशानुसार एफआईआर दर्ज की थी। इस मामले में पूर्व आइजी जैदी सहित आठ पुलिस अधिकारियों व कर्मियों को सीबीआई ने 29 अगस्त 2017 को गिरफ्तार किया था। डीडब्ल्यू नेगी को सीबीआइ ने 16 नवम्बर 2017 को गिरफ्तार किया था।

More From state

Trending Now
Recommended