संजीवनी टुडे

लॉकडाउन ने लील ली पांच जिंदगियां, पहचान भी नहीं हुई

संजीवनी टुडे 29-03-2020 20:43:57

कोरोना वायरस से खौफजदा लोग अपनी जिंदगी बचाने के लिए घरों से निकलकर अपने प्रदेश जा रहे थे। उन्हें क्या पता था रास्ते में उन्हें मौत मिलेगी। एक कैंटर की टक्कर में तीन पुरुषों, दो महिलाओं और एक बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई


गुरुग्राम। कोरोना वायरस से खौफजदा लोग अपनी जिंदगी बचाने के लिए घरों से निकलकर अपने प्रदेश जा रहे थे। उन्हें क्या पता था रास्ते में उन्हें मौत मिलेगी। एक कैंटर की टक्कर में तीन पुरुषों, दो महिलाओं और एक बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। मरने वाले कहां के थे और कहां जा रहे थे, अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि पुुलिस ने उन्हें पलायन ना करने के लिए रोक रखा था। सड़क किनारे बैठे थे। 

इस दौरान यह हादसा हो गया। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार सभी के शवों को पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया गया है। जानकारी के अनुसार शनिवार की रात को करीब 50 लोग एकत्रित होकर यहां बिलासपुर से आगे पचगांव के पास केएमपी के पास पैदल ही पहुंचे थे। वे यहां से अपने गांव की ओर जा रहे थे। आधी रात को वे केएमपी पर पचगांव चौक के पास स्थित पुराने टोक प्लाजा के पास पहुंचे थे। इसी बीच एक कैंटर अहमदाबाद से गाजियाबाद सब्जी लेकर जा रहा एक कैंटर अनियंत्रित होकर उनकी तरफ बढ़ा। 

जब तक कोई कुछ समझ पाता, कैंटर तले कुचलकर पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। मरने वालों में तीन व्यक्ति, एक महिला और एक साल का बच्चा शामिल है। बताया जा रहा है कि काफी लोग इस हादसे में घायल भी हुए हैं। क्योंकि उस समय 50 से अधिक लोग केएमपी पर बैठे हुए थे। हादसे की सूचना किसी तरह से पुलिस के पास पहुंची। बिलासपुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और हादसे का शिकार हुए लोगों को अस्पताल पहुंचा। अस्पताल में उन्हें म़ृत घोषित कर दिया गया। यानी मौके पर ही उनकी मौत हो चुकी थी। जांच अधिकारी एएसआई राजेंद्र के मुताबिक ट्रक को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं हादसे के बाद कैंटर का ड्राइवर फरार है। 

यह खबर भी पढ़े: बुजुर्गों पर कोरोना वायरस का खतरा सबसे ज्यादा, संक्रमण से बचाव के लिए इन अहम बातों का ध्यान रखना जरुरी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended