संजीवनी टुडे

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर वामदलों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 10-12-2019 18:54:24

चार वामदलों ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर केन्द्र सरकार का यहां पुतला जलाकर प्रदर्शन किया।


जालंधर। चार वामदलों, भारतीय इंकलाबी मार्क्सवादी पार्टी (आर.एम.पी.आई.), सी.पी.आई., सी.पी.आई. (एम.एल.) लिबरेशन और एम.सी.पी.आई.-यू. ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर केन्द्र सरकार का यहां पुतला जलाकर प्रदर्शन किया।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​नागरिकता संशोधन विधेयक पर अमेरिकी संस्था की टिप्पणी पर भारत ने कहा- इस मामले में बोलने का कोई अधिकार नहीं

वाम दलों के नेताओं बंत बराड़ (सचिव पंजाब सी.पी.आई.), प्रकट सिंह जामाराय ( एक्टिंग सचिव (आर.एम.पी.आई पंजाब), गुरमीत सिंह बखतपुर (सचिव लिबरेशन पंजाब) और किरनजीत सेखों (मेंबर पोलित ब्यूरो एम.सी.पी.आई. -यू.) ने धार्मिक पहचान के आधार पर संदिग्ध और विदेशी घोषित कर देश के मुसलमानों को उजाड़ने की भद्दी साजिश के तहत पेश किये गए नागरिकता संशोधन विधेयक और राष्ट्रीय नागरिकता सूची (एन.आर.सी.) वापस लेने की माँग की। 

उन्होने मांग की है कि स्त्रियों, विशेष कर मासूम बच्चियाें के साथ हो रही बलात्कार और हत्या की घटनाओं के लिए दोषियों को फांसी दी जाए। वाम नेताओं ने जम्मू-कश्मीर के लोगों के समूचे लोकतांत्रिक और संवैधानिक अधिकार और सभी नागरिक सेवाएं बहाल करने की भी माँग की।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended