संजीवनी टुडे

सुअर वध होते ही खेली गयी लट्ठमार दिवाली

संजीवनी टुडे 08-11-2018 17:34:34


हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर शहर में गुरुवार को शाम यहां लट्ठमार दिवाली खेली गयी। दिवाली नृत्य करने वालों ने रस्सी से सुअर बांधकर गायों के सामने फेंका जिसे गायों ने रौंद डाला। यह अनोखी दिवाली जिले के कई इलाकों में होती है जिसे देखने के लिये लोगों की भारी भीड़ भी जुटी। 

हमीरपुर नगर के रहुनियां धर्मशाला मैदान में अनोखी दिवाली गुरुवार को शाम साढ़े चार बजे खेली गयी। यहां सुअर को रस्सी से बांधकर लाया गया और गायों के सामने उसे रख दिया गया। गायों ने सुअर को पैरों तले रौंद डाला। अनोखी दिवाली खेलने की यह परम्परा यहां सैकड़ों सालों से चली आ रही है जिसे देखने के लिये लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। 

सुअर के बेदम होते ही यादव जाति के लोगों ने लट्ठमार दीवाली का भी प्रदर्शन किया गया जिसे देखने के लिये आसपास के लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। अबकी बार खेलने कूदने की उम्र वाले बच्चों ने भी दिवाली नृत्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। रहुनियां मैदान से देर शाम दिवाली नृत्य करते लोग पूरे नगर में गली कूचों में भ्रमण भी करने के लिये निकल पड़े जो देर रात तक दिवाली नृत्य करेंगे। 

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

दिवाली नृत्य खेलने वाले दीनदयाल सहित अन्य लोगों ने बताया कि दीपावली के अगले दिन शाम को यहां पुरानी परम्परा की दिवाली खेली जाती है। परम्परा के मुताबिक सुअर को गायों के सामने रखा जाता है। गायें अपनी सींग और पैरों से ही उसे रौंदती हैं। यह खेल तब तक चलता है जब तक सुअर बेदम नहीं हो जाता है। यदि इसके बाद भी सुअर बच गया तो उसे फिर छोड़ दिया जाता है। जिले के मौदहा, सुमेरपुर व पड़ोसी जिले के बीबीपुर गांव में इसी तरह की दिवाली खेली गयी। 

sanjeevni app

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended