संजीवनी टुडे

अपहरण: जुड़वा बच्‍चों का अभी तक नहीं लगा सुराग, बदमाशों पर 80 हजार का इनाम घोषित

संजीवनी टुडे 13-02-2019 16:22:21


सतना। सतना के चित्रकूट में एक तेल व्यापारी के जुड़वा बच्चो के अपहरण मामले में अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। जिससे इलाके के लोगों में आक्रोश बना हुआ है । वहीं बुधवार को सतना एसपी संतोष सिंह ने बदमाशों पर 80 हजार रूपए का इनाम घोषित किया है। 

सतना के नया गांव थानाक्षेत्र में सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट जानकी कुंड परिसर में ट्रस्ट द्वारा विद्याधाम अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित है। इसमें कर्वी कोतवाली क्षेत्र चित्रकूट के रामघाट सीतापुर निवासी बड़े तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के छह वर्षीय जुड़वां बेटे देवांश व शिवांश एलकेजी और यूकेजी में पढ़ते हैं। 

मंगलवार दोपहर करीब एक बजे छुट्टी होने पर दोनों भाई बस में सवार होने जा रहे थे। इस बीच पल्सर बाइक से आए दो बदमाशों ने तमंचे के बल पर दोनों बच्चों से नाम पूछा और दोनों को बाइक पर बिठाकर रजौला मार्ग होते हुए अनुसुइया आश्रम के जंगलों की ओर भाग निकले। बस में करीब 30 बच्‍चे सवार थे। दोनों भाइयों के अपहरण से स्कूल परिसर में सनसनी फैल गई। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

वहीं घटना की सूचना मिलते ही मां और दादानी तुरंत बेहोश हो गई, जबकि पिता रावत का कहना है मेरा किसी से विवाद नहीं था, हालांकि उन्‍होंने स्‍कूल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप जरूर लगाया है। इस पूरे मामले में पुलिस ने उत्‍तरप्रदेश पुलिस की मदद से दोनों राज्‍यों की सीमाओं को सील कर दिया गया है और वाहनों की सघन जांच की जा रही है। मामला रंजिश में अपहरण का लग रहा है, अभी तक कोई फिरौती की कोई मांग सामने नहीं आई है। नयागांव पुलिस की कई टीमें पड़ताल में जुटी हैं। इधर प्रदेश में बढ़ रही वारदातों के चलते मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने डीजीपी वी.के. सिंह को तलब कर उन्‍हें तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए । 

सीसीटीवी खंगालने में जुटी पुलिस 
अपहरण की घटना के बाद पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे खंगालने शुरू कर दिए हैं। इसमें बाइक सवारों को पहचानने की कोशिश की जा रही है। बच्चों के अपहरण के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। कोई कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

पुलिस को बाबुली कोल गैंग पर संदेह 
दो जुड़वा भाइयों का दिनदहाड़े अपहरण के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल है। चौबीस घंटों के बाद अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। बाइक सवार अपहर्ताओं का जंगल की ओर जाने से साढ़े पांच लाख रुपये के इनामी बबुली कोल गैंग पर संदेह बना है। पुलिस भी अनुसुइया आश्रम जंगल की तरफ जाने के कारण मान रही है, हालांकि अभी परिजनों के पास फिरौती की मांग नहीं आई है। बुधवार को पुलिस ने इस मामले में आरोपितों पर 80 हजार रूपए का इनाम घोषित किया है। 

More From state

Trending Now
Recommended