संजीवनी टुडे

प्लास्टिक एवं उद्योगों से निकलने वाले कैमिकल को बहते हुए पानी से रखें दूर-नेहा गिरि

संजीवनी टुडे 31-07-2019 20:07:14

जिला स्तरीय सतत विकास लक्ष्य क्रियान्वयन एवं मॉनीटरिंग समिति की जिला स्तरीय बैठक जिला कलक्टर नेहा गिरि की अध्यक्षता में जिला कलक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित की गई।


धौलपुर। जिला स्तरीय सतत विकास लक्ष्य क्रियान्वयन एवं मॉनीटरिंग समिति की जिला स्तरीय बैठक जिला कलक्टर नेहा गिरि की अध्यक्षता में जिला कलक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में उन्होंने गरीबी, स्वस्थ जीवन, लैंगिक समानता, किफायती एवं स्वच्छ ऊर्जा, उद्योग, नवाचार, बुनियादी ढाचे का विकास, भुखमरी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, शुद्ध जल एवं स्वच्छता, सम्मानजनक कार्य और आर्थिक विकास, असमानता में कमी, शहरी और सामुदायिक विकास, जलवायु परिवर्तन, भूमि पर जीवन, सतत उपभोग एवं उत्पादन पैटर्न, पानी में जीवन, शांति और न्याय तथा संवहनीय विकास के लिए वैश्विक भागीदारी का पुनरूद्धार के 17 लक्ष्यों पर बिन्दूवार चर्चा करते हुए कहा कि सभी पुरूषों एवं महिलाओं विशेषकर गरीब एवं आर्थिक संसाधनों के समान अधिकार के साथ-साथ मूलभूत सेवाएं देकर उनको कठिनाईयों से उभारना आवश्यक है।

गरीब, कमजोर बच्चों को सुरक्षित पोषक भोजन उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए। किशोरियों, गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सुरक्षा प्रदान कराते हुए विशेष पोषण की आवश्यकताओं को पूरा कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि स्वस्थ्य जीवन के लिए खतरनाक रसायनों, वायु, जल, प्रदुषण, तम्बाकू पर नियंत्राण किया जाए। इसके लिए जोखिम के पूर्व चेतावनी देना आवश्यक है। सभी बालक-बालिकाओं को निःशुल्क प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा के साथ-साथ गुणवत्तापूर्ण तकनीकी व्यवसायिक शिक्षा भी दिया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं एवं बालिकाओं के विरूद्ध शोषण न होने के लिए अलग से कमेटी गठित किए जाने के निर्देश दिए। 

जल उपयोग कुशलता में र्प्याप्त वृद्धि करने के साथ जल अभाव का समाधान करते हुए मीठे जल की संधारणीय निकासी एवं आपूर्ति करना सुनिश्चित करें। लोगों को रोजगार सृजन, उद्यमता, सृजनात्मकता, विकासोन्मुखी को बढ़ावा देने के लिए वित्तीय सेवाओं की उपलब्धता सहित सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को प्रोत्साहित किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बेगार का उन्मूलन करने, बाल श्रम का निषेध किया जाना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को सामाजिक व आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए प्रजाति, मूल, धर्म आर्थिक एवं अन्य स्थिति के समान अवसर सुनिश्चित किए जाए। आय की असमानता को कम करने के लिए भेदभाव परख कानूनों, नीतियों और व्यवहारों को समाप्त करने पर बल दिया।

शहरी क्षेत्रा के प्रति व्यक्ति पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने के लिए वायु की गुणवत्ता के लिए अधिक से अधिक पौधारोपण करने के निर्देश दिए। जीवन चक्र के दौरान पर्यावरणीय रूप से ठोस प्रबंधन हासिल करने के लिए हवा, पानी तथा मानव स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के दुषप्रभावों से बचने के लिए प्लास्टिक एवं उद्योगों से निकलने वाले कैमिकल को बहते हुए पानी से दूर रखने की कार्य योजना बनाई जानी चाहिए। बैठक में सहायक निदेशक आर्थिक एवं साख्यिकी विभाग बाबूलाल मीणा, मुख्य आयोजना अधिकारी अशोक शर्मा, अधीक्षण अभियन्ता जन स्वास्थ्य विभाग भरत मीणा सहित विभिन्न अधिकारी उपस्थित रहें।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now