संजीवनी टुडे

मिलेनियम सिटी में गूंजी कत्थक नृत्यांगना विदुषी के घुंघरुओं की खनक

संजीवनी टुडे 16-07-2019 18:35:59

मिलेनियम सिटी में गूंजी कत्थक नृत्यांगना विदुषी के घुंघरुओं की खनक


गुरुग्राम। प्रसिद्ध भारतीय कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज की शिष्या कत्थक नृत्यांगना विदुषी सास्वती के घुंघरुओं की खनक  मिलेनियम सिटी में सुनाई दी। अपनी इस कला के माध्यम से उन्होंने हर किसी को कला के साथ अपना भी दीवाना बना लिया। घंटों तक उन्होंने मंच पर कत्थक नृत्य करके पसीना बहाया और इस कला का लोहा मनावाया। यहां विदुषी ने कहा कि यह सिर्फ के एक कला नहीं बल्कि उनके जीवन का अहम हिस्सा है, जिसे वे कभी त्यागना नहीं चाहेंगी।  

मंगलवार को सेक्टर-4 स्थित ब्लू बेल्स मॉडेल स्कूल ने प्रख्यात कथक नृत्यांगना विदुषी सास्वती सेन के मार्गदर्शन में दो दिवसीय नृत्य कार्यशाला का आयोजन किया। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य हमारी संस्कृति में भारतीय शास्त्रीय नृत्य के महत्व को उजागर करना था। कार्यशाला का आयोजन घुंघरु डांस इंस्टीट्यूट के साथ संयुक्त रूप से किया गया। 

विदुषी सास्वती सेन ने कत्थक की मूल अवधारणा को समकालीन अभिरुचियों से जोड़ कर अपने नृत्य के माध्यम से परिपूर्ण किया है। वे प्रसिद्ध लखनऊ घराने से ताल्लुक रखती हैं। इस अवसर पर विदुषी सास्वती सेन ने बातचीत में कहा कि कहा कि उन्हें खुशी है कि वे इस कार्यशाला का हिस्सा बनी। यहां के छात्र और शिक्षक दोनों ही इस नृत्य को सीखने को लेकर उत्साहित दिखे।

 उन्होंने कहा कि वे पिछले 50 वर्षों से पंडित बिरजू महाराज के साथ हैं। खास बात यह है कि वे अभी भी उनसे सीख रही हैं। क्योंकि कला का कोई अंत नहीं होता। कत्थक उन्हें स्वर्ग सी अनुभूति देता है और उनके लिए एक थैरेपी का काम करता है। कत्थक नृत्य हमें शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाता है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended