संजीवनी टुडे

वैष्णो देवी तथा अन्य स्थानों की यात्रा रद्द, चैत्र नवरात्रों के पहले दिन लोगों ने घरों में की पूजा अर्चना

संजीवनी टुडे 25-03-2020 22:04:02

विनाशकारी कोराना वायरस को फैलने से रोकने के लिए किए जा रहे उपायों और सरकार की ओर से घोषित किए गए लॉकडाउन के चलते नवरात्रों में जम्मू से पिंगला माता के लिए जाने वाली यात्रा को रद्द कर दिया गया है।


नई दिल्ली। विनाशकारी कोराना वायरस को फैलने से रोकने के लिए किए जा रहे उपायों और सरकार की ओर से घोषित किए गए लॉकडाउन के चलते नवरात्रों में जम्मू से पिंगला माता के लिए जाने वाली यात्रा को रद्द कर दिया गया है। इसी तरह से नवरात्र के दौरान जम्मू और अन्य स्थानों से श्री माता वैष्णो देवी तथा अन्य स्थानों के लिए जाने वाली यात्राओं को भी रद्द कर दिया गया है। जम्मू में चैत्र नवरात्रि के पहले दिन सभी प्रमुख मंदिरों के दरवाजे बंद रहे। वैष्णोदेवी, रघुनाथ मंदिर, रणबिरेश्वर मंदिर और काली माता मंदिर में विशेष आरती के दौरान बस पुजारी ही मौजूद रहे। 

आमतौर पर हर साल इस दिन मंदिरों को फूलों से सजाया जाता है, लेकिन इस बार ज्यादा सजावट नहीं की गई। जम्मू के जानीपुर से ऊधमपुर जिले में स्थित पिंगला माता के लिए नवरात्र के दौरान हर साल यात्रा रवाना होती थी। इस साल यह यात्रा 29 मार्च को जानी थी और इसके आयोजकों ने इसके लिए सभी इंतजाम भी कर लिये थे। आयोजक अश्वनी सिंह ने बुधवार को बताया कि हर साल की तरह इस साल भी यात्रा ले जाने की पूरी तैयारी की गई थी लेकिन हालत के मद्देनज़र यात्रा संभव नहीं हो पाई। उन्होंने बताया कि हालात सामान्य होने के बाद यह यात्री निकाली जायेगी। 

वहीं जम्मू से शिव सेना की ओर से भी श्री माता वैष्णो देवी के लिए यात्रा निकाली जाती थी वो भी नहीं निकल पायेगी। इसके अलावा नवरात्र के दौरान अन्य कइ्र स्थानों से निकलने वाली यात्राएं भी अब नहीं निकल पायेंगीं।  पूरे देश के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर में भी बुधवार को लोगों ने अपने-अपने घरों में चैत्र नवरात्रों की शुरूआत की। बुधवार को लोगों ने मंा शैल पुत्री की पूर्जा-अर्चना कर सुख-समृद्धि की कामना भी की। 

कोरोना वायरस के चलते एहतियातन मंदिरों या सार्वजनिक स्थानों पर आज यानी बुधवार को नवरात्रों के दौरान श्रद्धालुओं को कोई भीड़ नहीं देखी गई। इस दौरान लोगों ने अपने-अपने घरों में ही पूजा-अर्चना की। कोरोना वायरस के खतरे के चलते लोगों की सुरक्षों को देखते हुए  लगाए गए लाकडाउन के कारण जम्मू-कश्मीर के सभी मंदिर, सड़के सुनी नजर आई। इस दौरान नवरात्रों में कोई उत्सव नहीं होगा और न ही मंदिरों में मां के दर्शन के लिए छड़ी यात्राएं निकाली जाएगी। नवरात्र पर सुनाई देने वाली मां के जयकारों की गूंज मंदिरों में नहीं बुधवार को घर-घर में ही सुनाई दी। 
 

यह खबर भी पढ़े: बड़ी खबर: देश में लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार करोड़ो गरीबों के लिए आर्थिक पैकेज का कर सकती है ऐलान: सूत्र
 

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended