संजीवनी टुडे

झारखंडः 200 दिन, 23 मुठभेड़ और 22 नक्सली ढेर

संजीवनी टुडे 19-07-2019 15:31:12

झारखंड में नक्सली गतिविधियों पर विराम लगाने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है तो नक्सली अपने इलाकों में वर्चस्व मजबूत बनाने में लगे हैं।


रांची। झारखंड में नक्सली गतिविधियों पर विराम लगाने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है तो नक्सली अपने इलाकों में वर्चस्व मजबूत बनाने में लगे हैं। इसी का नतीजा है कि राज्य में जनवरी से अबतक पुलिस-नक्सली के बीच 23 मुठभेड़ हुई, जिसमें 22 नक्सली मारे गए हैं। झारखंड पुलिस ने इस वर्ष 150 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है, वहीं 12 नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष सरेंडर किया है। जनवरी से लेकर अबतक नक्सलियों ने राज्य में 57 घटनाओं को अंजाम दिया है। इस दौरान पुलिस ने एके-47 राइफल, गोलियां सहित अत्यधिक मात्रा में विस्फोटक बरामद किया है।

नक्सलियों की गतिविधि हाल के दिनों में बढ़ी 
राज्य में सरायकेला-खरसावां जिले में नक्सलियों ने जिस तरह कई घटनाओं को अंजाम दिया, उसी तरह अब वह पलामू प्रमंडल में वे अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। नक्सली संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद् (जेजेएमपी), भाकपा माओवादी और तृतीय प्रस्तुति कमिटी (टीपीसी) की सक्रियता पलामू प्रमंडल में हाल के दिनों में बढ़ गई है। लेवी वसूलने और दहशत फैलाने के लिए नक्सली विकास कार्यों में लगे वाहनों में आगजनी कर अपना खोया हुआ वर्चस्व स्थापित करने फिराक में है। उनका मकसद विकास कार्यों में लगी निर्माण कंपनियों में खौफ पैदा कर लेवी वसूलने का है।

नक्सलियों के खात्मे तक अभियान रहेगा जारी
आईजी अभियान सह पुलिस प्रवक्ता आशीष बत्रा ने शुक्रवार को बताया कि पहले की तुलना में अब नक्सलियों को लेवी मिलना बंद हो गया है जिससे उनमें बौखलाहट देखी जा रही है। इसी बौखलाहट में नक्सली वाहनों में आग लगाकर दहशत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। नक्सलियों की अब कोई विचारधारा नहीं है। नक्सलियों का मुख्य मकसद अब लेवी वसूलना रह गया है। 

लेवी के पैसे से जहां नक्सली अपनी संपत्ति बना रहे हैं, वहीं दूसरे राज्यों से भी आए नक्सली लेवी वसूल अपने राज्य में लौट जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जेजेएमपी इस वर्ष जनवरी से लेकर अबतक 10 घटनाओं को अंजाम दे चुका है। पुलिस इस संगठन के खिलाफ ऑपरेशन चला रही है, जिसमें सफलता भी मिल रही है। उन्होंने ने बताया कि नक्सलियों के खात्मे तक अभियान जारी रहेगा।

इस वर्ष की प्रमुख नक्सली घटनाएं
18 जनवरी 2019 बालूमाथ के बुक रेलवे साइडिंग के पास काम कर रहे मुंशी समेत मजदूरों के साथ मारपीट। 
 
23 मार्च 2019 ओरमांझी प्रखंड निवासी नीरज सिंह से फोन कर लेवी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी। 

07 अप्रैल 2019 गुमला के घागरा में मुठभेड़ हुई थी, मोबाइल फोन पिट्ठू समेत कई सामान जब्त किए गए।

31 मई 2019 टंडवा में पुल बना रही कंपनी की मशीन लेवी के लिए जला दी गई थी।

04 जुलाई 2019 गढ़वा के भंडरिया में बीड़ी पत्ता लेने आए दो ट्रकों को जेजेएमपी ने आग के हवाले कर दिया।

08 जुलाई 2019 पलामू में पाकी थाना अंतर्गत आसेहार पत्थर माइंस पर रात में अपराधियों ने लेवी के लिए फायरिंग की।

12 जुलाई 2019 लातेहार के टोरी चंदवा में 12 वाहन फूंक दिए और ताबड़तोड़ फायरिंग की। 

18 जुलाई 2019 लातेहार जिले के बारेसाढ़ में नक्सलियों ने दो ट्रैक्टर, एक ट्रक और एक बाइक को आग के हवाले कर दिया।

18 जुलाई 2019 लोहरदगा के पेशरार थाना क्षेत्र में पुलिस और जीजेएमपी नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में तीन नक्सली मारे गए। सर्च अभियान में पुलिस ने दो एके 47 राइफल भी बरामद किया। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

sssdsdd

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended