संजीवनी टुडे

मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को लेकर झांसी प्रशासन ने जारी किये कड़े दिशा निर्देश

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 02-09-2019 16:54:04

झांसी जिले में प्रशासन ने मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को लेकर कड़े दिशा निर्देश जारी कर दिये


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में प्रशासन ने मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को लेकर कड़े दिशा निर्देश जारी कर दिये गये है और इसके तहत साफ किया गया है कि यदि कोई बीएलओ गलत सूचना देता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने कैम्प कार्यालय स्थित सभागार में सोमवार को मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को सफल बनाये जाने के उददेश्य से जनपद के एडीएम, एसडीएम सहित अन्य अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 01 सितम्बर से 30 सितम्बर 2019 तक बीएलओ को घर-घर सत्यापन की कार्रवाई किये जाने हेतु पर्याप्त मात्रा में फार्म 6,7,8 एवं 8 ए उपलब्ध करा दिए जाए। सत्यापन कार्य पूर्ण पारदर्शिता से किया जाए। 

यह खबर भी पढ़ें: सिख समुदाय का पाकिस्तान उच्चायोग के सामने जोरदार प्रदर्शन

घर-घर जाकर मतदाता सत्यापन कार्यक्रम पूर्ण निष्ठा एवं सतर्कता से चलाया जाए, यदि बीएलओ द्वारा गलत सूचना दी जाएगी तो कार्यवाही होगी। घर-घर भ्रमण पर ऐसे मतदाता जो 01 जनवरी 2020 को 18 वर्ष पूर्ण कर रहे है उन्हे शमिल करने के लिए फार्म-6 अवश्य भरवा ले, साथ ही ऐसे मतदाता जिनकी मौत हो चुकी हो या शिफ्ट हो गये, उन्हे मतदाता सूची से हटाया जाए। मतदाता सूची से मतदाताओं के नाम विलापित करने में सावधानी बरती जाए। क्षेत्र भ्रमण में बीएलओ मतदाता सत्यापन हेतु बीएलओ को स्वयं अपने नाम का सत्यापन हेतु जानकारी दे।

जिलाधिकारी ने कहा कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम 01 से 30 सितम्बर तक मतदाता स्वयं निर्वाचक नामावली में अपने तथा परिवार के सदस्यों के नाम एवं मतदाता सूची में सम्बन्धित प्रविष्ठियों का सत्यापन वोटर हैल्पलाइन मोबाइल एप केमाध्यम से कर सकते है। 

इसके साथ ही मतदाता अपने परिवार के सदस्यों के नाम का सत्यापन राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल (एनवीपीएस), मोबाइल एप एवं हेल्पलाइन नं. 1950 के माध्यम से कर सकते है। उन्होने कहा कि यदि सत्यापन कार्यक्रमके दौरान किसी मतदाता के नाम अथवा अन्य किसी प्रविष्टि में कोई संशोधन अपेक्षित है तो यह कार्रवाई भी की जाए। इसके साथ ही निर्वाचक नामावली में सम्मिलित मृत/स्थान परिवर्तन/डुप्लीकेट इन्ट्री को भी नियमानुसार हटाये जाने सम्बन्धीकार्य भी मतदाता सत्यापन कार्यक्रम अवधि में सम्पादित किये जाएगे।

यह खबर भी पढ़ें: चाकू लेकर राम रहीम का नारा लगाते हुए संसद में घुस रहा था युवक, दबोचा

जिलाधिकारी ने कहा कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम में स्वीप योजना के अन्तर्गत मतदाता जागरुकता हेतु सभी सहयोगी विभागों, संस्थाओं, मीडिया आदि का भी सहयोग लिया जाए ताकि कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार हो और मतदाता सूचीमें जो छूटे मतदाता है वह दर्ज हो सके। उन्होने कहा कि महिलाओं से जुड़ी संस्था इक्का हाईमीन एण्ड वेलबीन एलएलपी जैसी अन्य संस्थाओं से अधिक सहायोग लिया जाए जिससे ऐसी महिलाये जिनका नाम मतदाता सूची में नही है उन्हेप्राथमिकता से जोड़ लिया जाए।

कामन सर्विस सेन्टर के माध्यम से निर्वाचन की विभिन्न सेवाये हेतु जैसे मतदाता सूची में पंजीकृत नामों का सत्यापन, पंजीकरण हेतु आनलाइन फार्म 6, मतदाता सूची से नाम विलोपन किये जाने सम्बन्धी फार्म 7, मतदाता की प्रविष्टियों में संशोधन सेसम्बन्ध फार्म 8 के भरे जाने के सम्बन्ध में कामन सर्विस सेन्टर की सेवाये मतदाता ले सकते है। उन्होने कहा कि जनपद में 01 सितम्बर 2019 से मतदाता सत्यापन कार्यक्रम प्रारम्भ हो गया है, कार्यक्रम में किसी भी स्तर की लापरवाही बर्दास्त नहीकी जाएगी।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, एडीएम नगेन्द्र शर्मा, एडीएम बी.प्रसाद, नगर मजिस्ट्रेट राम प्रताप, अपर नगर आयुक्त शादाब खान सहित समस्त उपजिलाधिकारी व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थितरहे।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended