संजीवनी टुडे

Jaipur/बारिश से नुकसान का आकलन जारी, मृतक चार व्यक्तियों के परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मिलेंगे 1-1 लाख रुपए

संजीवनी टुडे 18-08-2020 14:22:40

जिला कलक्टर नेहरा शुक्रवार को हुई अतिवृष्टि के दौरान जिला प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों के बारे में पत्रकारों को जानकारी दे रहे थे।


जयपुर। जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा ने जयपुर में 14 अगस्त को हुई बारिश के कारण हताहत हुए चार व्यक्तियों के परिवारों को सोमवार को एक-एक लाख रुपए की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से जारी कर दी है। एक अन्य मृतक किशोर के परिवार को यह राशि एक-दो दिन में जारी कर दी जाएगी। साथ ही  नियमानुसार मुआवजे के लिए बारिश के कारण अन्य प्रकार से प्रभावितों के नुकसान का आकलन कराया जा रहा है। 

नेहरा ने बताया कि शुक्रवार को हुई तेज बारिश के बाद शहर में त्वरित गति से राहत कार्य शुरू किए गए एवं अब तक अधिकांश कच्ची बस्तियों से पानी निकाला जा चुका है, प्रभावित सैकड़ों लोगों के लिए दोनों समय खाने की व्यवस्था की गई एवं सड़क, बिजली एवं पानी की लाइनों को हुए नुकसान को दुरूस्त करने के सम्बन्धित विभागों को निर्देश दे दिए गए हैं। 

jaipur

जिला कलक्टर नेहरा शुक्रवार को हुई अतिवृष्टि के दौरान जिला प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों के बारे में पत्रकारों को जानकारी दे रहे थे। उन्होंने अतिवृष्टि से प्रभावित कई क्षेत्रों का दौरा कर रविवार को जमीनी हालात का जायजा लिया। इसमें विशेष कर पहाड़ों की तलहटी में बसे लो-लाइन एरिया का भी उन्होंने निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि बारिश से कुछ पक्के एवं कच्चे मकानों को क्षति पहुंची है। एसडीआरएफ के नियमों के अन्तर्गत अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान के मुआवजे के लिए तहसीलदार द्वारा सर्वे किया जा रहा है। 

नेहरा ने बताया कि बरसात में मित्तल कॉलेज के पास गाड़ी बह जाने के कारण मारे गए रामप्रताप मीणा, पारी मीणा एवं काना मीणा के परिजनों को एक-एक लाख रूपए एवं भट्टा बस्ती क्षेत्र मेें बहे किशोर सन्नी के परिजनों को एक-एक लाख रुपए की राशि सीएम रिलीफ फण्ड से जारी कर दी गई है। मौत के शिकार एक अन्य व्यक्ति को परिजन भरतपुर ले गए हैं एवं एक किशोर सोमवार को मृत मिला जिसके परिजनों को एक दो दिन में एक लाख रुपए की राशि प्रदान कर दी जाएगी। 

jaipur

नेहरा ने बताया कि अतिवृष्टि से उपजे हालात के सम्बन्ध में सोमवार को सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देेश प्रदान कर दिए गए है। लाल डूंगरी क्षेत्र में मीणा पेट्रोल पम्प के अतिरिक्त संसाधन लगवाकर मिट्टी हटावाई जा रही है। यहां वन विभाग के लाल डूंगरी क्षेत्र में एनिकट की दीवार टूटने से काफी मलबा आवासीय कॉलोनी में आ गया। वन विभाग को मिट्टी भरे कट्टे डालकर इसकी पुरावृत्ति रोकने को कहा गया है। 

विजयपुरा क्षेत्र में जल निकास के लिए जेडीए एक्सईएन को सर्वे के लिए कहा गया है और तब तक पम्पों से खाली स्थान में पानी डाला जा रहा है। जेडीए को सभी क्षतिग्रस्त सड़कें ठीक करने के निर्देश दिए गए हैं। अब तक टीला नम्बर दो को छोड़कर सभी कच्ची बस्तियों में से पानी निकाला जा चुका है। नए पम्प लगाकर यहां से भी पानी निकाला जा रहा है। गिराधारीपुरा, बगराना सभी जगह से पानी निकाला जा चुका है। 

jaipur

प्रभावितों को शिविर में रखकर तीन दिन से सुबह शाम उनके खाने की व्यवस्था भी गई है। जयसिंहपुरा खोर क्षेत्र के प्रभावितों को भी भोजन उपलब्ध करवाया गया है। श्री नेहरा ने पत्रकारों को बताया कि अतिवृष्टि का पानी वर्षा के दो-तीन घंटे बाद निकल गया लेकिन कई जगह कचरा फंसा है इसे हटाने के लिए  निगम को निर्देशित किया गया है।  

जेवीएनएल को बारिश के कारण खराब हुई एल.टी, एच.टी., डी.पी. एवं पोल्स तथा  ट्रांसफार्मर को अविलम्ब सही कराने के निर्देश दिए गए। पीएचईडी को भारी बारिश से क्षतिग्रस्त पाइप लाइन के क्षेत्रों में टेंंकर्स से आपूर्ति को कहा गया है। जेडीए को जामडोली क्षेत्र मे क्षतिग्रस्त सड़के  ठीक करवाने एवं दिल्ली बाइपास सड़क पर हनुमान मंदिर के पास पहाड़ी का मलबा साफ करवाने को कहा गया। नगर निगम जयपुर को शहर में पुराने एवं जर्जर मकानों को  चिह्नित कर सुरक्षा हेतु उपाय करने को कहा गया।

यह खबर भी पढ़े: गहलोत सरकार का बड़ा निर्णय, मेडिकल एज्यूकेशन सोसायटी के पुनर्गठन के लिए सृजित किये जायेंगे 210 नए पद

यह खबर भी पढ़े: गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का ट्रांसफर, जानिए क्यों किया गया तबादला

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended