संजीवनी टुडे

मनरेगा के अंतर्गत ली गई योजनाओं को अविलंब पूरा करने का निर्देश

संजीवनी टुडे 16-06-2019 22:28:19

महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत जिले में संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिला पदाधिकारी पूनम ने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि सिर्फ योजनाओं को प्रारंभ करना


कटिहार। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत जिले में संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिला पदाधिकारी पूनम ने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि सिर्फ योजनाओं को प्रारंभ करना ही हमारा उद्देश्य नहीं है, उसे पूर्ण करना भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पूर्व में शुरू की गई योजनाओं को पूर्ण कराकर ही नई योजनाएं लें। उल्लेखनीय है कि मनरेगा के अंतर्गत कुल 55712 योजनाएं प्रारंभ की गई है जबकि मात्र 29115 योजनाएं ही अब तक पूर्ण की गई है, जिसका प्रतिशत 52 है। 

लचर प्रगति वाले प्रखंड हसनगंज, कोढ़ा, कटिहार, प्राणपुर, मनिहारी, आजमनगर, डंडखोरा के प्रोग्राम पदाधिकारी को डीएम कड़े निर्देश देते हुए कहा कि इसे 15 दिनों के अंदर हर हाल में पूर्ण करें। जिला अंतर्गत 187350 क्रियाशील कामगारों में से 168206 कामगारों के आधार प्राप्त है। अब तक 19144 कामगारों के आधार प्राप्त नहीं किए जा सके हैं। जिला पदाधिकारी ने शत-प्रतिशत कामगारों के आधार प्राप्त कर उसके सत्यापन के निर्देश देते हुए डीएम ने कहा कि मनरेगा के अंतर्गत सृजित की जाने वाली परिसंपत्तियों का जियो टैगिंग की शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराएं।

 परिसंपत्तियों के जियो टैगिंग में कोढ़ा, बारसोई, आजमनगर, बलरामपुर एवं बरारी सहित अन्य सभी कार्यक्रम पदाधिकारियों को शत-प्रतिशत जियो टैगिंग सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिला पदाधिकारी ने प्रधानमंत्री जल शक्ति योजना के तहत प्रत्येक पंचायतों में कम-से-कम एक जल संरक्षण की स्कीम मुखिया के माध्यम से ग्राम सभा का आयोजन कराकर इसका क्रियान्वयन सुनिश्चित करने का निर्देश अधिकारियों को दिया। 

उन्होंने कहा कि जल संरक्षण की स्कीमों में तालाब निर्माण, आहर, नहर, पाईन इत्यादि स्कीमों को लिया जा सकता है। आहर, नहर, पाईन की योजना लेते समय सिंचाई विभाग से अनापत्ति भी प्राप्त किया जाना चाहिए। डीएम ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत जो अधिकारी अच्छा कार्य करेंगे उन्हें पुरस्कृत भी किया जाएगा। जल संचयन का माहौल बनाने के उद्देश्य से उन्होंने आर्सेनिक से प्रभावित क्षेत्रों में रूफ हार्वेस्टिंग (Roof Harvesting) की योजना लेने का भी निर्देश दिया। 

प्रधानमंत्री जन शक्ति अभियान का उद्देश्य यही है कि इस योजना के अंतर्गत जल संचयन एवं इसके संरक्षण के प्रति सकारात्मक वातावरण बनाया जाए, इसमें सामुदायिक सहभागिता सुनिश्चित कराई जाए। जहां भी इस तरह की योजनाएं ली जाएं, वहां स्थानीय समुदाय की सहभागिता सुनिश्चित कराते हुए क्रियान्वित की जाएं। 

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर उपयुक्त स्थलों के पास पोखर इत्यादि के निर्माण के साथ-साथ पेड़-पौधों को भी लगाया जाए, इसे सुंदर बनाया जाए ताकि रमणीक स्थल के रूप में इसे विकसित किया जा सके। आवश्यकता इस बात की है कि योजनाओं का क्रियान्वयन इस रूप में किया जाए ताकि एक पंचायत साफ-सफाई, जल संरक्षण इत्यादि विभिन्न योजनाओं के तहत उक्त पंचायत मॉडल पंचायत के रूप में दिख सके। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From state

Trending Now
Recommended