संजीवनी टुडे

मदरसा पैराटीचर्स के मानदेय में बढ़ोतरी समय-समय पर- अल्पसंख्यक मामलात मंत्री

संजीवनी टुडे 12-07-2019 20:06:24

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद ने शुक्रवार को विधानसभा में बताया कि मदरसों में कार्यरत पैराटीचरों के मानदेय में समय-समय पर वृद्धि की जाती है।


जयपुर। अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद ने शुक्रवार को विधानसभा में बताया कि मदरसों में कार्यरत पैराटीचरों के मानदेय में समय-समय पर वृद्धि की जाती है। इसे किसी भी वर्ष घटाया नहीं गया है। विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि राजस्थान में कुल 3226 मदरसे संचालित हैं। मदरसों में कार्यरत पैराटीचरों को निश्चित मानदेय दिया जाता है। 

मानदेय में वर्षवार निम्नानुसार की वृद्धि की गई है। वर्ष 2003 में मानदेय में 800 रुपये की वृद्धि की गई, वर्ष 2004 में 200 रुपये, 2005 से 2012 तक प्रतिवर्ष 400 रुपये, 2013 में 1200 रुपये, 2014 में 400 रुपये, 2016 में 800 रुपये, 2017 एवं 2018 में मानदेय में दस प्रतिशत वृद्धि की गई। 

उन्होंने बताया कि इस मानदेय में राज्य सरकार के आदेशानुसार समय-समय पर वृद्धि की जाती रही है। मानदेय किसी भी वर्ष घटाया नहीं गया है। उन्होंने बताया कि एक जनवरी को 2019 द्वारा राज्य के विभिन्न विभागों में कार्यरत संविदा कर्मियों की समस्याओं के निवारण के लिए ऊर्जा मंत्री बुलाकीदास कल्ला की अध्यक्षता में एक मंत्रीस्तरीय समिति का गठन किया गया है। उन्होंने शिक्षा सहयोगियों के नियमितीकरण पर विचार करने हेतु प्रकरण चौदह मार्च 2019 को मंत्रीस्तरीय समिति को प्रेषित किया जा चुका है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended