संजीवनी टुडे

उप्र की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका:सिद्धार्थ नाथ

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 15-11-2019 03:01:00

उत्तर प्रदेश के एनआरआई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि राज्य की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका है ।


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के एनआरआई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि राज्य की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका है । सिंह आज यहां एनआरआई विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। 

यह खबर भी पढ़ेंभारतीय सेना में नौकरी का सुनहरा मौका, आज ही करे आवेदन

उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की संकलित सूची बनाई जाय। साथ ही प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए प्रभावी एनआरआई वेब पोर्टल भी तैयार कराया जाय, ताकि एक क्लिक पर राज्य के प्रवासी भारतीयों को सरकार द्वारा संचालित समस्त योजनाओं की जानकारी प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका है। इसके लिए निवेश प्रोत्साहन एवं एनआरआई विभाग को एक साथ मिल कर काम करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों के माध्यम से राज्य में निवेश लाने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है। इसके लिए प्रवासी भारतीयों को तमाम प्रकार की सहूलियत एवं सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जायेंगी।

सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बड़ी संख्या में प्रवासी भारतीय राज्य का भ्रमण करें, इसके लिए पर्यटन को बढ़ावा दिया जाय। साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीय पर्यटकों की सुविधा के लिए आकर्षक पैकेज भी बनाये जायं। उन्होनें कहा कि प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की समस्याओं को वेब पोर्टल के माध्यम से जल्द से जल्द निस्तारण की व्यवस्था की जायेगी।

एनआरआई मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में पहला ऐसा राज्य होगा, जो भारत सरकार के लिए इस क्षेत्र में एमओयू साइन करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में निवेश बढ़ाने के लिए भविष्य में आयोजित होने वाले रोड-शों में एनआरआई विभाग से जोडा जायेगा। 

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभाग के ढांचे को मबजूती प्रदान के लिए दिये गये निर्देशों का जल्द से जल्द अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। बैठक में प्रमुख सचिव एनआरआई आलोक कुमार सहित बड़ी संख्या में विभागीयअधिकारी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended