संजीवनी टुडे

नजरअंदाज: डॉक्टर और नर्सों के कक्ष में दिन रात जल रहे मरीजों के हीटर

संजीवनी टुडे 16-01-2020 15:20:28

शीतलहर एवं कड़ाके की सर्दी की जद में आए प्रदेश में रोगियों को राहत दिलाने का दावा गलत है।


सीकर। शीतलहर एवं कड़ाके की सर्दी की जद में आए प्रदेश में रोगियों को राहत दिलाने का दावा गलत है। इसका नमूना मेडिकल कॉलेज के अधीन शेखावाटी के सबसे बड़े कल्याण अस्पताल में नजर आया। उपयुक्त व्यवस्था न होने से सर्दी का कहर मरीजों एवं तीमारदारों पर बरप रहा है। 

एक कंबल के भरोसे रोगी है एवं घरवालों को घर से रजाई लानी पड़ रही है। अस्पताल में चिकित्सक एवं नर्सों के कक्ष में दिन रात ही हीटर जल रहे हैं। कमोबेश यही स्थिति नेहरू पार्क स्थित जनाना अस्पताल की है। रोगियों हेतु कंबल सरकारी मदद से खरीदे जाते हैं। 

यह खबर भी पढ़े:राजस्थान पंचायत चुनाव: मतदाताओं को लुभाने के लिये शराब का दौर जारी, प्रचार थमने के बाद आज पंच और सरपंच के उम्मीदवार घर घर

मरीजों संग बरती जा रही लापरवाही
जिला अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही की वजह से कड़ाके की सर्दी में उपचार हेतु आने वाले मरीज व तीमारदार परेशान हैं। भीषण सर्दी प्रारंभ होने के पश्चात भी अस्पताल में रोगियों की सुविधाओं को लेकर पूरी तरह से असावधानी बरती जा रही है। अस्पताल के वार्डों में भर्ती रोगियों को सर्दी से बचने हेतु प्रदान  किए जाने वाले कंबल इतने पतले होते हैं कि सर्दी कम नहीं होती है। 

घरवाले लाते हैं हीटर
एसके अस्पताल के शिशु वार्ड में घरवालों की तरफ से स्वयं हीटर लगाकर रोगी को सर्दी से दूर रखने की कोशिश की जा रही  है। मेल सर्जिकल वार्ड में टूटी खिड़की की वजह से मरीजों को सर्दी से जूझना पड़ रहा है। अस्पताल में घरवालों हेतु कोई व्यवस्था नहीं होने से उन्हें जमीन पर ही नींद लेना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, अनेक जगह एग्जॉस्ट से आने वाली हवा को रोकने हेतु कागज के गत्ते लगाए गए है।

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended