संजीवनी टुडे

कब क्या हो जाएं पता नहीं: नई दुल्हन को देखना पड़ गया भारी, घर की पाल गिरने से 20 लोग घायल, 4 की हालत नाजुक

संजीवनी टुडे 03-12-2020 11:18:20

अल्मोड़ा जिले के सीमावर्ती विकास खंड ताड़ीखेत के जंता नावली गांव में बुधवार को बारात के लौटने पर दुल्हन को देखने के लिए लगी ग्रामीणों की भीड़ को घर का पाल यानी फर्श नहीं सह पाया और घर के बाहर के कमरे का पाल टूट कर नीचे गिर गया।


नैनीताल। अल्मोड़ा जिले के सीमावर्ती विकास खंड ताड़ीखेत के जंता नावली गांव में बुधवार को बारात के लौटने पर दुल्हन को देखने के लिए लगी ग्रामीणों की भीड़ को घर का पाल यानी फर्श नहीं सह पाया और घर के बाहर के कमरे का पाल टूट कर नीचे गिर गया। इस हादसे में घायल 4 महिलाओं को गम्भीर हालत में सीएचसी गरमपानी लाया गया। 

सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद चारों महिलाओं 108 सेवा सुशीला तिवारी रेफर कर दिया गया। ग्रामीणों के मुताबिक हादसें में एक दर्जन से अधिक लोग मामूली चोटिल हुए, जबकि चार महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गईं।

जानकारी के अनुसार अल्मोड़ा जिले के जंता गांव मोहन सिंह पुत्र प्रेम सिंह की बारात नैनीताल जिले के नथुवाखान डेलकूना के लिए सुबह घर से बड़े धूम धाम के साथ रवाना हुई थी। बुधवार की देर रात 8 बजे जब बारात डेलकूना से जंता गांव पहुंची तो दुल्हन को देखने के लिए ग्रामीणो का हजूम उमड़ने से घर के बाहर के कमरे की पाल टूट गई। इससे गांव की मंजू (26) पत्नी भुवन सिंह, अनीता मेहरा (17) साल पुत्री नारायण सिंह, रेखा देवी (35) वर्ष पत्नी आनंद सिंह और गीता रावत (27) साल पत्नी लक्ष्मण सिंह निवासी रानीखेत पाल टूटने से नीचे के तल पर गिर गईं। उन्हें किसी तरह बाहर निकालकर ग्रामीणों की मदद से सड़क पर लाया गया और वहां से 108 सेवा की मदद से इलाज के लिए सीएचसी गरमपानी लाया गया। सीएचसी में चारों महिलाओं कों प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने 108 सेवा से सुशीला तिवारी रेफर कर दिया।

वहीं नीमा देवी, मीना देवी, ज्योति, अंजलि, उमा देवी, रवीना, लीला देवी को मामूली चोट पहुंची। कई लोगों को हल्की फुल्की चोट होने की वजह से अस्पताल नहीं लाया गया। घायलों में एक डेढ़ साल की बच्ची भी बताई जा रही है हालांकि उसकी हालत ठीक है। स्थानीय महेंद्र रावत, धर्मेंद्र, संजय सिंह, पंकज सिंह, पुष्कर बिष्ट, श्याम सिंह, आशीष, नवीन सिंह ने घायलों को गांव से हाइवे तक पहुंचाने में मदद की। जंता गांव में बारात वापसी का जश्न मकान के पाल टूटने के साथ फीका पड़ गया। 

घटना की सूचना मिलते ही पूरे गांव में हड़कम्प मच गया। मकान की पाल टूटने से मची अफरा तफरी में ग्रामीणों की चीख पुखार मच गई। हर कोई अपने परिजनों की खोजबीन में लगा रहा। और घायलों को टूटी पाल से किसी तरह निकालकर सड़क तक ग्रामीणो की मदद से किसी तरह टॉर्च और उजाले की मदद सें भवाली अल्मोड़ा एनएच पर लाने के बाद 108 सेवा से सीएचसी गरमपानी पहुंचाया गया। हादसे के बाद ग्राम प्रधान जंता महेन्द्र सिंह रावत, शिव सिंह व बहादूर सिंह ने बताया कि बारात आने के बाद दुल्हन को देखने के लिए बाहर के कमरे  में ग्रामीणों की भीड़ जमा होने सें पाल एकाएक टूटने से एक दर्जन से अधिक लोग चोटिल हो गए। ग्रामीणों के मुताबिक हादसे के वक्त दूल्हा और दुल्हन हादसे के समय दूसरे कमरे में रीति रिवाज निभा रहे थे। घटना के बाद पूरे गांव में जश्न का माहौल फीका पड़ गया।

यह खबर भी पढ़े: चीन ने एक बार फिर किया ये कारनामा, 44 साल में जो कभी नहीं हुआ उसे करना चाहता है ड्रैगन...

यह खबर भी पढ़े: अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस के अध्यक्ष ने एक दूसरी महामारी की ओर भी किया इशारा, सरकारों से जल्द से जल्द कदम उठाने की अपील की

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended