संजीवनी टुडे

इंसानियत फिर हुई शर्मसार, डॉक्टरों ने युवक के कटे पैरों का बना दिया तकिया

संजीवनी टुडे 25-08-2019 19:24:30

प्रभारी पीएमओ डॅाक्टर विनय गुप्ता ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।


नई दिल्ली। यूपी के फरीदाबाद से एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। इस घटना को देखने वाला हर कोई हैरान रह गया। 

तीन राज्यों के पुलिस अधिकारी ग्वालियर में जुटेंगे

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक वायरल हुआ है, जिसमे शहर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल बादशाह खान में एक मरीज के दोनों कटे हुए पैरों को उसका तकिया बना दिया गया है। इस मामले पर बवाल मचने के बाद डॉक्टर अब अपने बचाव में तर्क देने पर लगे हैं। प्रभारी पीएमओ  डॅाक्टर विनय गुप्ता ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

खबरों के मुताबिक, वायरल वीडियो में चल रहा है कि गुरुवार देर रात ओल्ड फरीदाबाद स्थित भूड़ कॉलोनी के 42 वर्षीय प्रदीप के ट्रेन हादसे में दोनों पैर कट गए थे। यह हादसा गुरुवार देर शाम उस वक्त हुआ जब वह ड्यूटी के लिए बड़खल फ्लाई ओवर के नीचे से जा रहे थे। इस दौरान पैर रेलवे ट्रैक में फंस गया। इसी बीच सुपर फास्ट ट्रेन गुजरी, इसकी चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गए। इसके बाद उन्हें बीके के आपातकाल में लाया गया।

जहां डॉक्टर और पैरा मेडिकल कर्मचारियों ने प्राथमिक उपचार शुरू कर दिया। आरोप है कि आनन-फानन में दोनों पैर को स्ट्रेचर पर उनके सिर के नीचे तकिये के रूप में रख दिया गया। इसके बाद प्राथमिक उपचार के लिए मरीज को दिल्ली के ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। इस मामले में विशेषज्ञ डॉक्टर का कहना है कि कई बार कटे पैर को भी जोड़ा जा सकता है। कुछ सावधानियां बरतनी पड़ती हैं, इसलिए दोनों पैर को साथ में रखकर रेफर किया गया।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. विनय गुप्ता का कहना है कि प्राथमिक उपचार कर उसे आधे घंटे के अंदर दिल्ली ट्रामा सेंटर में रेफर कर दिया गया। उपचार के दौरान डॉक्टरों की पहली प्राथमिकता मरीज की जान बचाना होता है। इसकी जानकारी मुझे नहीं है कि कटे हुए पैर को सिर के नीचे किसने रखा। मामले की जांच कराई जाएगी।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended