संजीवनी टुडे

एक हजार रुपये से अधिक का सामान ऑर्डर करने पर ही देंगे होम डिलेवरी, पढ़िए- ग्राहकों को कैसे उलझा रहे हैं दुकानदार

संजीवनी टुडे 10-04-2020 18:14:56

प्रदेश के इंदौर सहित कई जिलों में हर दिन कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आने के बाद सरकार ने सभी जिलों में चार दिन के लिए लॉक डाउन को और ज्यादा सख्त कर दिया है। जिसके तहत आपातकालीन चिकित्सा सेवाओं को छोडक़र सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया है।


गुना। प्रदेश के इंदौर सहित कई जिलों में हर दिन कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आने के बाद सरकार ने सभी जिलों में चार दिन के लिए लॉक डाउन को और ज्यादा सख्त कर दिया है। जिसके तहत आपातकालीन चिकित्सा सेवाओं को छोडक़र सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया है। दो व चार पहिया वाहनों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी है। ऐसे में आमजन के समक्ष दैनिक जरुरत का सामान खरीदने की परेशानी को कम करने के लिए प्रशासन होम डिलेवरी की विशेष व्यवस्था की थी। लेकिन दुकानदारों ने अपने फायदे के लिए कर्मचारी न होने  के बहाने बनाकर इस अच्छी खासी व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है। यह हकीकत पड़ताल में भी सामने आई है। 

होम डिलवेरी के लिए प्रशासन द्वारा बनाए गए ऑन लाइन पोर्टल पर दर्ज किराना व दूध डेयरी संचालकों को बारी-बारी फोन लगाकर होम डिलवेरी के लिए कहा। इस दौरान अधिकांश दुकानदारों ने डिलेवरी बॉय न होने व दूरी अधिक का हवाला देकर होम डिलेवरी करने में अपने आपको असमर्थ बताया। वहीं कुछ दुकानदारों का कहना था कि वे एक हजार रुपये से कम वाले आर्डर पर होम डिलवेरी नहीं दे सकते हैं।

-
यह बोले दुकानदार 
संतोष किराना स्टोर भोलेनाथ सालट
जवाब : आज दुकान पर लडक़ा नहीं आया इसलिए आपको सामान लेने घर पर ही आना पड़ेगा।
-
संतुष्टि बाजार 
जवाब : सामान कहां भेजना है। आप व्हाट्सएप कर दीजिए, भिजवा देेंगे। 
-
मोडीकेयर 
जवाब : हमारे यहां मोडिकेयर ब्रांड के ही आइटम मिलते हैं। दाल, चावल हमारे पास मौजूद नहीं हैं। होम डिलेवरी भी सिर्फ एक हजार से अधिक का सामान मंगाने पर ही दी जाती है।
-
देवराज ट्रेडर्स :
जवाब : हमारी दुकान आपके घर से ज्यादा दूर है। हम आपको एक नंबर दे देते हैं, वह आपको किराना सामान पहुंचा देंगे। यदि वह न दे पाएं तो आप मुझे फोन लगा लेना।
-
मित्तल एंटरप्राइजेज 
जवाब : अभी ऑनलाइन सेवा बंद है। कलेक्टर साहब के आदेश होने के बाद यह सेवा फिर से शुरू  हो सकेगी। अभी प्रशासन द्वारा होम डिलेवरी के लिए दो गाडिय़ां चलवाई जा रही हैं, जिनके माध्यम से लोगों को जरुरत का सामान उपलब्ध करवाया जा रहा है। 
-
मनोज ट्रेडर्स 
जवाब : हम विवेक कॉलोनी तक होम डिलेवरी नहीं दे पाएंगे। राधा कॉलोनी तक होम डिलेवरी दे सकते हैं। आप अभी जरूरी सामान की लिस्ट व्हाट्सएप कर दें। बाकी सामान 14 तारीख के बाद ले लेना। क्योंकि सुनने में आ रहा है कि 14 के बाद दुकानें खुल जाएंगी।
-
शिवहरे किराना स्टोर्स
जवाब : हम केवल डेढ़ हजार से अधिक के ऑर्डर पर ही होम डिलेवरी की सुविधा देते हैं। चूंकि हम होम डिलवेरी का चार्ज नहीं ले रहे इसलिए एक हजार से कम वाले ऑर्डर पर होम डिलेवरी की सुविधा नहीं दे पा रहे हैं।
-
होम डिलवेरी पोर्टल पर यह है व्यवस्था

प्रशासन द्वारा बनवाए गए पोर्टल को ओपन करने के लिए गूगल पर होम डैश डिलेवरी  डॉट इन लिखना होगा। इसके बाद आपातकालीन होम डिलेवरी पोर्टल गुना खुल जाएगा। यह चार विकल्प दिए गए हैं। पहले विकल्प में क्रेता सेवा केंद्र, दूसरे में ऑर्डर की स्थिति खोजने, तीसरे में विक्रेता लॉगिन तथा चौथे में विक्रेता रजिस्ट्रेशन का विकल्प मौजूद है। इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से न सिर्फ ग्राहक किराने का सामान अपने घर पर मंगा सकता है बल्कि दूध से लेकर दवा मंगाने की भी व्यवस्था दी गई है। इसके लिए बकायदा पहले विकल्प में रजिस्टर्ड किराना दुकान, दवा, फल व सब्जी से लेकर दूध मंगाने की सुविधा दी गई है। खास बात यह है कि ग्राहक अपनी सुविधा अनुसार किराना दुकान, मेडिकल स्टोर, सब्जी व फल विक्रेता तथा दूध डेयरी को चुनकर सामान मंगा सकता है। यहां बता दें कि पोर्टल के जरिए होम डिलेवरी की यह सुविधा गुना शहर व ग्रामीण के अलावा राघौगढ़, मधुसूदनगढ़, चांचौड़ा, कुंभराज तथा बमोरी के लिए दी गई है।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना संकट: नेपाली प्रधानमंत्री को मोदी ने दिया भरोसा- हर संभव सहायता देगा भारत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended