संजीवनी टुडे

एजेएल प्लॉट आवंटन मामले में हुड्डा सीबीआई कोर्ट में हुए पेश

संजीवनी टुडे 12-07-2019 17:30:07

एसोसिएट्स जनरल लिमिटेड ( एजेएल) प्लॉट आवंटन मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा शुक्रवार को स्पेशल सीबीआई कोर्ट पंचकूला में पेश हुए।


पंचकूला। एसोसिएट्स जनरल लिमिटेड ( एजेएल) प्लॉट आवंटन मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा शुक्रवार को स्पेशल सीबीआई कोर्ट पंचकूला में पेश हुए। हालांकि एजेएल के चेयरमैन मोतीलाल वोरा कोर्ट नही पहुंचे। किन्ही कारणों के चलते आरोपों पर बहस नही हो पाई। अब अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी। बचाव पक्ष ने वोरा की उम्र और स्वास्थ्य कारणों के चलते पेशी में स्थायी छूट के लिए अर्जी दी है। 

उल्लेखनीय है कि 1982 में पंचकूला के सेक्टर-6 में प्लॉट नंबर सी-17 को तत्कालीन मुख्यमंत्री भजनलाल ने एजेएल को कंपनी को अलॉट कराया था। इस पर छह महीने में निर्माण शुरू करके दो साल में काम पूरा करना था। यह कंपनी 10 साल में ऐसा नहीं कर पाई। अक्टूबर 1992 को हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने अलॉटमेंट कैंसिल करके प्लॉट रिज्यूम कर लिया था। 

18 अगस्त 1995 को फ्रेश अलॉटमेंट के लिए आवेदन मांगे गए। इसमें एजेएल को भी आवेदन करने की छूट दी गई। अगस्त 2005 में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने एजेएल को 1982 की मूल दर पर प्लॉट अलॉट करने की फाइल पर साइन किए। कंपनी को छह महीने में निर्माण शुरू करके एक साल में काम पूरा करने को भी कहा गया। 

हुड्डा पर आरोप है कि नेशनल हेराल्ड का प्रकाशन करने वाली कंपनी एजेएल को नियमों के विपरीत भूखंड आवंटित किया गया। इससे सरकार को 67.65 लाख रुपये का नुकसान हुआ। हुडा की शिकायत पर राज्य सतर्कता विभाग ने मई 2016 को इस मामले में केस दर्ज किया था। 

सीबीआई की विशेष अदालत में दिसंबर 2018 में पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा, एजेएल के तत्कालीन चेयरमैन कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और एजेएल के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई थी। एजेएल पर कांग्रेस नेताओं का कथित तौर पर नियंत्रण है। इसमें नेहरु-गांधी परिवार भी शामिल हैं।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

bhggd

More From state

Trending Now
Recommended