संजीवनी टुडे

हाईकोर्ट ने हटाई असिस्टेंड प्रोफेसर्स की नियुक्त पर लगी रोक: जीतू पटवारी

संजीवनी टुडे 17-06-2019 15:39:58

मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा प्रदेश में असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति पर लगाई रोक को हटा लिया है। इसके साथ ही प्रदेश में करीब ढाई हजार असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति का रास्ता भी साफ हो गया है।


भोपाल। मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा प्रदेश में असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति पर लगाई रोक को हटा लिया है। इसके साथ ही प्रदेश में करीब ढाई हजार असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति का रास्ता भी साफ हो गया है। यह जानकारी प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने सोमवार को सोशल मीडिया के माध्यम से मीडिया को दी है।प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने सोमवार सोशल मीडिया ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री कमनलाथ के सकारात्मक प्रयासों से महाविद्यालयों में सहायक प्राध्यापकों की भर्ती और नियुक्ति का रास्ता हाईकोर्ट ने साफ कर दिया है। 

उन्होंने कहा है कि उच्च शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए हमारी सरकार प्रयासरत है। उच्च शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने को लेकर मुख्यमंत्री जी की चिंता और प्रयासों के लिए मैं उनका हार्दिक आभारी हूं।दूसरे ट्वीट में जीतू पटवारी ने डॉक्टरों की हड़ताल को राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने ट्वीट किया है कि "अस्पताल जिंदगी और डॉक्टर आशा और विश्वास के प्रतीक होते है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन बंगाल की घटना का सहारा लेकर समूचे देश की स्वास्थ्य सेवाओं के साथ खिलवाड़ कर रहा है। मध्यप्रदेश में डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर कानून होने के बाद भी हड़ताल केंद्र की राजनीति से प्रेरित लगती है।"

उल्लेखनीय है कि सरकारी कॉलेजों में रिक्त पड़े पदों को भरने के लिए विधानसभा चुनाव के पहले राज्य शासन द्वारा ढाई हजार असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती की थी, लेकिन आदर्श आचरण संहिता लागू होने के कारण मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने इस भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगा दी थी। इसकी वजह से असिस्टेंट प्रोफेसरों की सरकारी कॉलेजों में खाली पड़े पदों पर नियुक्ति नहीं हो पाई थी।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended