संजीवनी टुडे

हाईकोर्ट ने जौहर यूनिवर्सिटी जमीन मामले में आजम खान को भेजा नोटिस

संजीवनी टुडे 13-07-2018 10:16:08


इलाहाबाद। पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान की मुश्किले एक बार फिर बढ़ने वाली हैं। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मौलाना जौहर यूनिवर्सिटी एवं आजम खान समेत केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी किया।

यह नोटिस कोर्ट ने वीआईपी गेस्ट हाउस, झील, कोसी नदी के किनारे तक विश्वविद्यालय द्वारा बाउंड्री वॉल से घेरे जाने को लेकर भेजा है। कोर्ट ने इस पूरे मामले में सरकार द्वारा गठित स्पेशल टीम को जांच जारी रखने की छूट दी है। बता दें कि रामपुर जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष अब्दुल सलाम की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश चीफ जस्टिस डीबी भोसले और जस्टिस यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने दिया है।

याचिका में कहा गया है कि रामपुर शहर की कई विकास योजनाओं को आजम खान ने अपने प्रभुत्व का इस्तेमाल कर जौहर विश्वविद्यालय की बाउंड्रीवॉल के भीतर कर लिया गया है और विकास योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचने नहीं दिया गया। 

याचिका में आरोप है कि विश्वविद्यालय के नाम पर आजम खान ने सरकारी संपत्ति को हथिया लिया है। साक्ष्य सौंपते हुए कोर्ट को बताया गया कि 2005 में प्राइवेट ट्रस्ट ने रामपुर में जौहर विश्वविद्यालय का निर्माण कराया, जिसके आजम खान आजीवन कुलाधिपति हैं। लेकिन इस विश्वविद्यालय के नाम पर रामपुर शहर की ढ़ेरो विकास योजनाओं जैसे स्टेडियम, झील, वीआइपी गेस्ट हाउस को विश्वविद्यालय की बाउंड्री के भीतर कर लिया गया है। जिन चीजों को रामपुर शहर के आम लोगों के लिए होना चाहिये था वह आजम खान का मालिकाना हक बन कर रह गया।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में call: 09314166166

MUST WATCH

इलाहाबाद हाईकोर्ट में आजम खान के खिलाफ दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश डीबी भोंसले तथा न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जांच के लिए जो विशेष जांच टीम गठित की गई है वह उसे जारी रखे और विस्तृत रिपोर्ट तैयार करें।

Rochak News Web

More From state

Trending Now
Recommended