संजीवनी टुडे

NMC विधेयक के विरोध में बिहार के तीन बड़े अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं ठप, मरीज परेशान

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 03-08-2019 15:02:08

राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) विधेयक के विरोध में आज पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (पीएमसीएच) के रेजिडेंट चिकित्सकों के भी शामिल हो जाने से बिहार के तीन बड़े अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं लगभग ठप पड़ चुकी हैं


पटना। राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) विधेयक के विरोध में आज पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (पीएमसीएच) के रेजिडेंट चिकित्सकों के भी शामिल हो जाने से बिहार के तीन बड़े अस्पतालों अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (डीएमसीएच) और पीएमसीएच में स्वास्थ्य सेवाएं लगभग ठप पड़ चुकी हैं, जिससे मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए) की बिहार इकाई के अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार ने यहां बताया कि राजधानी पटना के पीएमसीएच के रेजिडेंट चिकित्सकों ने एनएमसी के विरोध में जारी राष्ट्रव्यापी हड़ताल में आज शामिल हो गए वहीं डीएमसीएच, दरभंगा के चिकित्सक शुक्रवार को हड़ताल में शामिल हुए। 

उन्होंने बताया कि एम्स, पटना के रेजिडेंट चिकित्सक इस हड़ताल में गुरुवार को शाम पांच बजे शामिल हुए। पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) के रेजिडेंट चिकित्सक भी हड़ताल पर थे लेकिन बाद में मानवता के आधार पर हड़ताल वापस ले लिया।

वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की बिहार इकाई के सचिव डॉ. ब्रजनंदन कुमार ने बताया कि वह आईएमए के निर्वाचन आयुक्त एवं बिहार आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. सहजानंद प्रसाद के साथ कल शाम आईएमए कार्य समिति की होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली जा रहे हैं।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

वहीं, पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि चिकित्सकों की हड़ताल से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

???????

More From state

Trending Now