संजीवनी टुडे

हरियाणा कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर बनाई रणनीति

संजीवनी टुडे 23-03-2019 16:29:11


रोहतक। हरियाणा कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर रणनीति तय की गई। चार घंटे से अधिक समय तक चली इस बैठक में प्रदेश के सभी दिग्गिज नेता मौजूद रहे। हालांकि किसी काम के चलते बाहर होने की वजह से कुलदीप बिश्रोई बैठक में शामिल नहीं हो पाए और उनके स्थान पर उनके बडे भाई चन्द्रमोहन ने बैठक में शिरकत की। खास बात तो यह रही कि हरियाणा कांग्रेस प्रभारी ने मंच से ही नेताओं को गुटबाजी समाप्त करने को कहा और एकजुटता का संदेश दिया। हरियाणा लोकसभा प्रभारी ने कहा कि एकजुटता से ही प्रदेश में दस की दस सीटें जीती जा सकती है और अब समय गुटबाजी का नहीं है। 

इसके अलावा लोकसभा प्रत्याशियों को लेकर भी चर्चा की गई। बताया जा रहा है कि अप्रैल के प्रथम सप्ताह में प्रत्याशियों की सूची जारी हो सकती है। यह भी स्पष्ट हो गया है कि छह से सात सीटों पर कांग्रेस के दिग्गिजों को ही मैदान में उतारा जाएगा। इसके अलावा कांग्रेस नेताओं ने यात्रा के शुरूआत व समापन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी समय मांगा है। शनिवार को दिल्ली के 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में हरियाणा कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक हुई। बैठक में विशेष तौर पर हरियाणा प्रभारी गुलाब नबी आजाद मौजूद रहे। बैठक में लोकसभा चुनाव की रणनीति से लेकर प्रत्याशियों के नामों को लेकर भी चर्चा हुई। मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

हाल ही में समन्वय समिति के चेयरमैन बनाए गए पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने भी मंच से एकजुट होने को कहा। चार घंटे से अधिक समय चली इस बैठक में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, पूर्व सांसद कुमारी शैलजा, हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर, विधायक दल की नेता किरण चौधरी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप शर्मा, पूर्व सांसद नवीन जिंदल, सांसद दीपेन्द्र हुड्डा, पूर्व उपमुख्यमंत्री चन्द्रमोहन बिश्रोई आदि दिग्गिज नेता प्रमुख रूप से मौजूद रहे। हरियाणा प्रभारी गुलाब नबी आजाद ने साफ कहा कि यह समय गुटबाजी का नहीं है। नेता वह समय याद करे जब हरियाणा में कांग्रेस की क्या स्थिति थी और उसे फिर से लाया जा सकता है। 

गुलाब नबी आजाद ने साफ कहा कि दस की दस सीटे कांग्रेस हरियाणा में जीतेगी। साथ ही 26 मार्च से पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा के नेतृत्व में शुरू हो रही रथयात्रा को लेकर चर्चा हुई। रथ यात्रा में हरियाणा के सभी दिग्गिज नेताओं को मौजूद रहने को भी कहा गया है। इसके पीछे यह कारण बताया जा रहा है कि अब तक प्रदेश में कांग्रेस नेताओं में गुटबाजी हैवी मानी जाती थी और एकजुटता का संदेश देने के लिए यह यात्रा शुरू की जा रही है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

पांच दिन चलने वाली यह रथ यात्रा पूरे प्रदेश के कौने कौने तक जाएगी। साथ ही लोकसभा के प्रत्याशियों के नामों को लेकर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि सात सीटों पर नामों पर मोहर लग चुकी है और इन सीटों पर सभी दिग्गज नेताओं को मैदान में उतारा जा रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी। 

More From state

Trending Now
Recommended