संजीवनी टुडे

हरे झंडे का इस्लाम से कोई वास्ता नहीं : रिजवी

संजीवनी टुडे 13-08-2019 19:51:03

वसीम रिजवी ने चांद सितारे वाले हरे झंडे को गैर इस्लामिक बताते हुये इसे प्रतिबंधित करने की मांग की है।


लखनऊ। शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने चांद सितारे वाले हरे झंडे को गैर इस्लामिक बताते हुये इसे प्रतिबंधित करने की मांग की है। रिजवी ने मंगलवार को यूनीवार्ता से कहा “ इबादतगाहों पर लगे चांद सितारे वाले हरे झंडों को इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है। वास्तव में यह झंडा हिन्दू मुस्लिम के विभाजन की जिम्मेदार मुस्लिम लीग का आधिकारिक प्रतीक है जिसे बाद मे मामूली संशोधन कर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने अपना राष्ट्रीय ध्वज बना लिया। जागरूकता के अभाव में आम मुस्लिम इसे धार्मिक झंडा मानता है। ”

मंत्रिमंडल ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक और संवेदना प्रकट की

उन्होने कहा कि जो भी तत्व इस झंडे का प्रचार प्रसार कर रहे है, उन पर कार्रवाई किये जाने की जरूरत है। झंडे पर प्रतिबंध लगाने संबंधी एक याचिका उन्होने उच्चतम न्यायालय में दाखिल की है जिस पर जल्द सुनवाई होने की संभावना है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

रिजवी ने कहा कि कुरान में चांद सितारे पर प्रतिबंध है। धार्मिक ग्रंथ में कहा गया है कि यह सिर्फ एक निशानी है और इसको पूजने पर प्रतिबंध है। उन्होने कहा कि वर्ष 1906 में मुस्लिम लीग की स्थापना हुयी थी जिसने इस झंडे को अपना आधिकारिक झंडा बनाया था जबकि 1913 में आजादी की लड़ाई को कमजोर करने के लिये मोहम्मद अली जिन्ना मुस्लिम लीग के अध्यक्ष बने और यह झंडा अधिक प्रचलन में आ गया। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended