संजीवनी टुडे

भोजपुर के गांव में अस्सी एकड़ में लगी चने की फसल सूख गयी,जांच को पहुंचे कृषि वैज्ञानिक

संजीवनी टुडे 13-03-2019 16:36:09


आरा। भोजपुर जिले के गड़हनी प्रखण्ड स्थित काउप गांव में बाल बांध सूर्य मंदिर के निकट करीब 80 एकड़ खेत में लगी चने की फसल सूखने की घटना से किसानों के बीच हाहाकार मच गया है।महीनों की कड़ी मेहनत के बाद तैयार हुई फसल सूखने से किसान परेशान हो उठे हैं।जिला कृषि वैज्ञानिक पी के द्विवेदी ने काउप गांव का वैज्ञानिकों के साथ निरीक्षण किया।निरीक्षण के बाद उन्होंने बताया कि खेतों में वर्षा की अधिकता के कारण फ्यूजेरियम एवं राइजोकटेनिया का प्रकोप है जिसके कारण चने की फसल सूखी है।

चने की खेती को बचाने के लिए कृषि वैज्ञानिक ने कॉपर ऑक्सी कैलोराइड के साथ एक दो और दवा का प्रयोग करने की सलाह किसानों को दी ।कृषि वैज्ञानिक ने यहां 60 से 65 प्रतिशत खेती के नुकसान की रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को दे दी है।फसलों के सूखने से किसानों की कमर टूट गई है और किसानों की दवा, खाद,बीज और पानी के पैसे बर्बाद हो गए हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

काउप पंचायत के किसान अवध बिहारी साह ने बताया कि फसलों के सूखने से किसानों के जीवन यापन पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।भोजन,बच्चों की पढ़ाई और आवश्यक सुविधाओं से किसान वंचित हो गए हैं और अब सरकार को इसकी क्षतिपूर्ति करनी चाहिए।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

करीब 80 एकड़ खेती पर सुखाड़ का असर हुआ है और दर्जनों किसानों के समक्ष भुखमरी की स्थिति पैदा हो गई है। जिला कृषि वैज्ञानिक के साथ काउप गांव में निरीक्षण के दौरान प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी रामचंद्र राम,कृषि समन्वयक एवं कृषि सलाहकार भी मौजूद थे।

More From state

Trending Now
Recommended