संजीवनी टुडे

राज्यपाल ने 227 कॉलेजों को दी चेतावनी, रवैया नहीं बदला तो होगी कार्रवाई

संजीवनी टुडे 05-06-2019 17:08:40

बिहार के राज्यपाल सह कुलाधिपति लाल जी टंडन ने राजभवन का आदेश नहीं मानने वाले 227 कॉलेजों को चेतावनी के साथ आगाह किया है कि यदि रवैया नहीं बदला तो उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई होगी।


पटना। बिहार के राज्यपाल सह कुलाधिपति लाल जी टंडन ने राजभवन का आदेश नहीं मानने वाले 227 कॉलेजों को चेतावनी के साथ आगाह किया है कि यदि रवैया नहीं बदला तो उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई होगी। राज्यपाल ने बुधवार को सभी कुलपतियों को यथाशीघ्र सभी अंगीभूत एवं सम्बद्धताप्राप्त महाविद्यालयों से ‘हेडपोस्ट’ पोर्टल पर वांछित सूचनाएँ शीघ्र अपलोड कराने के लिए कहा है, ताकि ‘मास्टर डाटा’ तैयार कराया जा सके। राज्यपाल ने कुलपतियों से कहा है कि अधिकतर सम्बद्धताप्राप्त महाविद्यालयों के साथ-साथ कुछ अंगीभूत महाविद्यालय भी ‘हेडपोस्ट’ पोर्टल के लिए सूचनाएँ उपलब्ध कराने में पर्याप्त अभिरुचि नहीं दिखा रहे । 

ऐसे महाविद्यालयों के विरुद्ध पहले चेतावनी-पत्र निर्गत किया जाना चाहिए । उसके बाद भी वे अगर शिथिलता बरतते हैं तो उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई सुनिश्चित होनी चाहिए। श्री टंडन ने कहा कि कुछेक अंगीभूत महाविद्यालयों के साथ-साथ अधिकतर सम्बद्धताप्राप्त महाविद्यालय ‘हेडपोस्ट’ के लिए संबंधित सूचनाएँ नहीं भेजकर विद्यार्थियों को दिग्भ्रमित करते हुए उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। राज्यपाल ने अपने प्रधान सचिव आरके महाजन को कहा है कि सभी अंगीभूत एवं संबद्धताप्राप्त महाविद्यालयों से ‘हेडपोस्ट’ के लिए वांछित सूचनाएँ अनिवार्य रूप से प्राप्त की जाय। राजभवन ने समीक्षा के दौरान यह पाया  है कि कुल 260 अंगीभूत काॅलेजों में से 222 ने ‘हेडपोस्ट’ के लिए डाटा-अपलोड कर दिया है। ये उपलब्धियाँ संतोषप्रद नहीं मानी जा सकतीं। 

इन विश्वविद्यालयों के सभी अंगीभूत काॅलेजों को यथाशीघ्र ‘हेडपोस्ट’ पोर्टल के लिए वांछित सूचनाएँ अपलोड करने के लिए कहा गया है। 256 सम्बद्धताप्राप्त काॅलेजों में से सिर्फ 67 काॅलेजों ने ही ‘हेडपोस्ट’ के लिए डाटा-अपलोडिंग की है। कुलपतियों को कहा गया है कि शेष 189 सम्बद्धताप्राप्त काॅलेजों से ‘डाटा-अपलोडिंग’ का काम शीघ्र पूरा कराया जाये। ‘हेडपोस्ट’ के अंतर्गत सभी अंगीभूत एवं सम्बद्धताप्राप्त काॅलेजों से संबंधित सूचनाएँ अपलोड हो जाने पर विद्यार्थियों एवं अन्य संबंधित अनुश्रवण एजेन्सियों को आवश्यक जानकारियाँ प्राप्त करने में सुविधा हो जाएगी। ‘हेडपोस्ट’ के तहत राज्य के सभी काॅलेजों से तत्काल 92 बिन्दुओं पर सूचनाएँ माँगी गई हैं। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

सभी काॅलेजों को अपना नाम, पता, इतिहास, प्राचार्य का नाम, उनका मोबाईल नं एवं मेल आईडी, काॅलेज लोगो, स्थापना-वर्ष, कुल कक्ष-संख्या, वाशरूम संख्या, गर्ल्सएवं ब्वायज काॅमन रूमों की संख्या, स्टाफ रूम/ आफिस रूमों की संख्या, पुस्तकालय एवं पुस्तकों की संख्या, नैक प्वाइंट एवं एस.एस.आर. एप्रूवल वर्ष, उपस्थिति मोड, वोकेशनल कोर्सेज की विवरणी, संबंधित विश्वविद्यालय एवं उनके पदाधिकारियों के नाम, मोबाइल नंबर, प्रयोगशाला-स्थिति, काॅलेजवार पाठ्यक्रम-विवरणी, काॅलेजवार शिक्षकों एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों के नाम, उनकी योग्यता, पद-स्वीकृति एवं रिक्तियों की संख्या, उनके पीएचडी वर्ष, उनके मोबाइल एवं ईमेल आईडी, पाठ्यक्रमवार छात्र-छात्रा संख्या आदि की जानकारियाँ ‘हेडपोस्ट’ पर अपलोड करनी हैं। ‘हेडपोस्ट’ के अगले चरण में डाइनेमिक डाटा इन्ट्री तथा वार्षिक एवं मासिक प्रतिवेदन अपलोडिंग की भी व्यवस्था करायी जायेगी। 
 

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From state

Trending Now
Recommended