संजीवनी टुडे

बिहार से अधिक लाचार सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था कहीं नहीं: महागठबंधन

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 14-11-2019 15:21:46

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नीत महागठबंधन ने महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन के बाद पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए पटना चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (पीएमसीएच) से एंबुलेंस उपलब्ध नहीं कराये जाने को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए आज कहा कि प्रदेश से अधिक बेबस और लाचार सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था कहीं नहीं है।


पटना। बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नीत महागठबंधन ने महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन के बाद पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए पटना चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (पीएमसीएच) से एंबुलेंस उपलब्ध नहीं कराये जाने को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए आज कहा कि प्रदेश से अधिक बेबस और लाचार सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था कहीं नहीं है।

यह खबर भी पढ़ें:​ raafel, rahul पर अहम् फैसला, ‘चौकीदार चोर है’ बयान पर SC की राहुल गांधी को सलाह, जानें?

महागठबंधन के घटक राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ट्वीट में सिंह के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा, “असहनीय! महान गणितज्ञ वशिष्ठ बाबू के निधन पर घड़ियाली आंसू बहाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वयं इतने संवेदनहीन हो चुके हैं कि उन्हें स्वास्थ्य विभाग और पीएमसीएच की कुव्यवस्था से क्या मतलब है। इससे ज्यादा बेबस और लाचार सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था कहीं नहीं होगी।”

राजद के राज्यसभा सांसद एवं प्रवक्ता मनोज झा ने सिंह के निधन पर दुख व्यक्त किया और कहा, “लेजेंड थे वशिष्ठ बाबू।” उन्होंने कहा कि सिंह का शव पीएमसीएच के बाहर घंटों पड़े रह जाना हमारी संवेदनहीनता की गाथा बयान कर रहा है। वहीं, राजद नेता विजय प्रकाश ने कहा कि सरकार जब बिहार की विभूति महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए एक एंबुलेंस तक मुहैया नहीं करा सकती तो आमलोगों का भगवान ही मालिक है।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended