संजीवनी टुडे

भगवान की सबसे बड़ी संरचना है मानव जीवनः रामदेव

संजीवनी टुडे 15-05-2019 22:30:00


हरिद्वार। योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा कि जीवन भगवान की सबसे बड़ी संरचना है। कोई भी व्यक्ति किसी भी व्यक्ति को पूर्ण नहीं कर सकता, जबकि हम अपने जीवन को स्वयं ही पूर्ण बना सकते हैं। बुधवार को हरिहर पुरूषोत्तम भागवत धाम में आयोजित श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ के भव्य आयोजन में योगगुरू बाबा रामदेव ने उक्त उद्गार व्यक्त किए। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

बाबा रामदेव ने कहा कि भगवान ने जीवन में घास से लेकर अणु-परमाणु, ज्ञान-विज्ञान सब कुछ जीवन में संजोया है, लेकिन अज्ञानवश मनुष्य अपने आप को अधूरा समझकर किसी अन्य व्यक्ति को अपना अधूरापन समाप्त करने के लिए तलाशता रहता है। उन्होंने कहा कि भारत को धर्म व संस्कृति में पिरोने का काम श्रीमद् भागवत कथा के माध्यम से स्वामी जगदीश दास महाराज अपनी कथा द्वारा कर रहे हैं जो कि प्रशंसनीय है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

कथा व्यास स्वामी जगदीशदास महाराज ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा जीवन को जीने की कला सिखाती है। धर्म, संस्कृति व शास्त्र का मार्ग भी प्रशस्त करती है। श्रीमद् भागवत कथा भगवान की कथाओं में सबसे अद्भुत ग्रंथ है जिसमें सभी धर्म, शास्त्रों का सार समाहित है। मनुष्य को अपने जीवन में कभी छल, कपट का सहारा नहीं लेना चाहिए। सत्य के मार्ग पर चलने वाले मनुष्य को कष्ट तो जरूर होते हैं लेकिन जीवन आनंदमय हो जाता है। इस अवसर पर पंचायती बड़ा अखाड़ा उदासीन के कोठारी महंत प्रेमदास महाराज, सेवादास महाराज, अमरदास महाराज, सर्वज्ञमुनि, कृपालदास महाराज, जयन्त मुनि, निर्मलराम मुनि, महंत केशवनन्द महाराज, अर्जुनदास महाराज आदि उपस्थित रहे। 

More From state

Trending Now
Recommended