संजीवनी टुडे

संगम नगरी में गंगा-यमुना का रौद्र रूप, 150 से अधिक गांव जलमग्न

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 19-09-2019 13:31:05

संगम नगरी प्रयागराज में गंगा और यमुना नदियों में आयी बाढ़ से 150 से अधिक गांव जलमग्न है और हजारों लोग अपना घर द्वार छोड़ कर सुरक्षित स्थानो की ओर पलायन कर गये है।


प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के मैदानी इलाकों में रूक रूक कर हो रही बारिश के बीच संगम नगरी प्रयागराज में गंगा और यमुना नदियों में आयी बाढ़ से 150 से अधिक गांव जलमग्न है और हजारों लोग अपना घर द्वार छोड़ कर सुरक्षित स्थानो की ओर पलायन कर गये है।

आधिकारिक सूत्रों ने गुरूवार को बताया कि राजस्थान और मध्य प्रदेश के बंधों से छोड़े गए पानी से दोनो नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। गंगा फाफामऊ में खतरे के निशान 84़ 73 मीटर से 35 सेमी ऊपर 85.08 मीटर पर बह रही हैं जबकि नैनी में यमुना लाल निशान को पार कर 85.00 मीटर पर बह रही हैं। रसूलाबाद श्मशान घाट पानी में डूब जाने के कारण वहां अंतिम संस्कार कर्म बाधित है हालांकि बाढ़ के कारण दारागंज में सड़क पर चितायें सजायी जा रही है।

यह खबर भी पढ़े: रक्षा मंत्री राजनाथ ने स्वदेसी लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरी, रचा इतिहास

बांधों और बैराजों से पिछले दिनो छोड़े गये लगभग 38 लाख क्यूसेक पानी का असर दोनो नदियों में दिखलाई पडने लगा है। नदियों ने रौद्र रूप धारण कर हजारों एकड़ खड़ी फसल को अपनी चपेट में ले लिया है और हजारों लोग बेघर हो गये हैं।

शहर के राजापुर,नेवादा, कछार, बेली, मऊ सरैया, नींवा कछार, द्रौपदी घाट, शंकर घाट, रसूलाबाद, शिवकुटी, चिल्ला, सलोरी, बघाड़ा, सदियाबाद, दारागंज करेली, करैलाबाद और जे के आशियान समेत 35 मुहल्ले और करीब 150 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। शहर में 10 तथा देहात में एक बाड़ राहत शिविर खोला गया है जिसमें बुधवार रात तक तीन हजार बाढ़ पीड़ित शरण ले चुके हैं।

यह खबर भी पढ़े: अयोध्या केस/ बीजेपी-शिवसेना नहीं, कोर्ट सुनाएगी फैसला: असदुद्दीन ओवैसी

तटीय क्षेत्रों में बसे मठ-मंदिरों में भी पानी घुस गया है। बाढ़ के कारण झूंसी स्थित टीकरमाफी आश्रम, रामलोचन आश्रम के वेद विद्यालयों में पानी भर गया। कैलाश टेकरी आश्रम, गंगोली शिवाला, योगानंनद आश्रम और प्रभुदत्त ब्रह़्मचारी आदि के आश्रम में भी पानी भर गया है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended