संजीवनी टुडे

‘चुप्पी तोड़ो, खुलकर बात करो’ अभियान के चार सप्ताह पूर्ण, अब तक 19 हजार से अधिक छात्राएं लाभांवित

संजीवनी टुडे 06-08-2019 20:22:03

बेटियों के स्वास्थ्य के लिए आगे आया उदयपुर


उदयपुर। ‘स्वच्छ भारत मिशन‘ के तहत बालिका स्वास्थ्य एवं शिक्षा के लिए उदयपुर जिले में चलाये जा रहे ‘चुप्पी तोड़ो, खुल कर बात करो‘ अभियान का प्रथम चरण सफलतापूर्वक पूर्ण हो चुका है और इसमें अब तक 19 हजार 373 छात्राओं को लाभांवित किया जा चुका है।  

बंगाल में भाजपा समर्थको को गिरफ्तार किया जा रहा है: सुप्रियो

जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि प्रथम चरण में जुलाई माह में झाड़ोल, कोटड़ा, फलासिया, एवं सायरा में यह अभियान चलाया गया था और अभियान में कुल 280 विद्यालयों में छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। वर्तमान में भी अभियान लगातार जारी है और द्वितीय चरण में भी प्रतिदिन चारों ब्लॉक के विद्यालयों में अभियान की गतिविधियां संचालित हैं। उन्होंने बताया कि पिछले दो दिन में 24 विद्यालयों तक इस अभियान के माध्यम से माहवारी स्वच्छता पर संवाद व स्वास्थ्य जांच के लिए मेडीकल इंटर्न्स एवं चिकित्सा विभाग की टीम पहुंची हैं। टीम द्वारा 61 छात्राओं के साथ-साथ 39 माताओं का भी स्वास्थ्य परीक्षण उपरांत चिकित्सकीय परामर्श देकर उपचार किया गया। 

ु

आज इन विद्यालयों में होंगेें कार्यक्रम: 
अभियान की नोडल अधिकारी ज्योति ककवानी ने बताया कि अभियान के तहत 7 अगस्त, बुधवार को सराड़ा ब्लॉक में पलोदडा, महुवाड़ा, धावडि़या, सेमारी में खेतावतों का बाड़ा, सल्लाड़ा, सडीमगरी, खेरवाड़ा में संस्कृत बडला, वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृत बडला व उच्च माध्यमिक बड़ला तथा ऋषभदेव में कोजावाड़ा, परेड़ा जागीर, जलपका के विद्यालयों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। 

इस तरह की गतिविधियां हो रही:  

अभियान की नोडल अधिकारी ज्योति ककवानी ने बताया कि इस अभियान मे आरएनटी मेडीकल कॉलेज, गीतांजली मेडीकल कॉलेज व पेसेफिक मेडीकल कॉलेज के मेडीकल इन्टर्स तथा इंसानियत स्वयं सेवी संस्था का विशेष सहयोग रहा है। सभी मेडिकल इर्न्टस नियमित रूप से चारांे ब्लॉक्स के प्रत्येक विद्यालय में पहंुच कर फिल्म एवं बातचीत के माध्यम से माहवारी स्वच्छता पर छात्राआंे से संवाद व शंकाओं का समाधान कर रहे हैं। इस अभियान के दौरान दो दिन पूर्व ही शिक्षा विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा गांव की महिलाओं को ‘चुप्पी तोड़ो...’ कार्यक्रम के लिये विद्यालय में आमंत्रित किया जा रहा है ताकि माताएं भी इस संवेदनशील विषय से परिचित हो सकें। अब तक लगभग 6 हजार महिलाएं भी इस अभियान से लाभान्वित हो चुकी है। 

ु

संवाद के साथ हो रहा उपचार: 
ककवानी ने बताया कि ‘चुप्पी तोड़ो, खुलकर बात करो‘ अभियान के दौरान संवाद के साथ ही प्रत्येक विद्यालय में यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्रत्येक छात्रा का आरबीएसके की मेडीकल टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच हो व जिन छात्राओं का हिमोग्लोबीन स्वास्थ्य प्रोटोकोल के हिसाब से कम है उन्हें विशेष रूप से उपचार मिले। अब तक 189 छात्राआंे मे हिमोग्लाबीन 8 से कम पाया गया है तथा कुल 17 छात्राओं का हिमोग्लाबीन 5 से भी कम मिला है। उन्होंने बताया कि इन छात्राओं का महाराणा भूपाल चिकित्सालय में रक्त चढ़ाया गया है। अभियान में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा ‘मेरा शरीर, मेरी बात‘ एवं ‘किशोरियों हेतु माहवारी स्वच्छता‘ पर जानकारीपरक पुस्तिका वितरित की गई है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended