संजीवनी टुडे

जयपुर में आफत की बारिश से 4 लोगों की मौत, दो लापता, इन जिलों में अलर्ट जारी

संजीवनी टुडे 14-08-2020 22:48:55

मौसम विभाग के मुताबिक 15 अगस्त को पूर्वी राजस्थान के अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडग़ढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर.....


जयपुर। मानसून के अनुकूल स्थितियां बनने तथा टर्फ लाइन के सामान्य स्थिति में रहने के असर से शुक्रवार को राजधानी जयपुर में कुछ ही घंटों में 7.2 इंच (184 मिमी) बारिश हुई। मानसून की टर्फ लाइन बीकानेर-जयपुर होते हुए गुजरी। साथ ही, बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने और पूर्वी राज्य के ऊपर अपर एयर साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम बनने से शुक्रवार को जयपुर समेत दौसा, बारां, करौली, सवाईमाधोपुर जिले में भारी बारिश हुई। मौसम विभाग ने शनिवार को भी राजधानी जयपुर समेत डेढ़ दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। राजधानी जयपुर में एनडीआरएफ की टीमों ने मोर्चा संभाल लिया है, जबकि अन्य अलर्ट वाले जिलों में स्थानीय प्रशासन आवश्यक तैयारियां कर रहा है। 

ू

राजधानी जयपुर में बारिश के कारण 4 लोगों की मौत हो गई, वहीं दो लापता हैं। जयपुर स्थित कानोता बांध में बोलेरो बह गई। गाड़ी में 6 लोग सवार थे। इनमें से तीन की मौत हो गई जबकि तीन को बचा लिया गया। खो-नागोरियान इलाके में एक व्यक्ति का शव बहकर आया तो जयसिंहपुरा खोर इलाके में बच्चे के बहने की सूचना पर एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची। वहीं एक व्यक्ति सोडाला में नाले में बह गया। जिला कलक्टर अंतरसिंह नेहरा ने बताया कि जामडोली से भानपुर कलां जाते समय मित्तल कॉलेज के पास एक गाड़ी बहने से उसमें सवार रामप्रताप मीणा (50), पारी मीणा (45) तथा दो वर्षीय काना मीणा की मौत हो गई। खो-नागोरियान में मिले शव की पहचान की जा रही है। 

ू

जमवारामगढ़ में सबसे ज्यादा 10 इंच बारिश हुई। बरसात में कई कच्चे मकान ढह गए। जयपुर शहर में भी कई कच्चे-पक्के मकान क्षतिग्रस्त हुए। जयपुर में बारिश का दौर गुरुवार रात शुरू हुआ जो शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे तक लगातार चला। इस दौरान मूसलाधार बारिश हुई। राजधानी में इससे पहले 16 अगस्त 1959 को 188.4 मिमी, 22 अगस्त 2012 को 170.1 मिमी तथा 9 अगस्त 2014 को 98.4 मिमी पानी बरसा था। 

ू

मूसलाधार बरसात से बिजली तंत्र को काफी नुकसान पहुंचा है। जामडोली पुराना घाट समेत आसपास के इलाकों में 37 बिजली के पोल गिर गए। मालवीय नगर में दो ट्रांसफार्मर भी पानी भराव के चलते गिरे। 14 बिजली के पोल और 2 ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हुए। पांच जगहों पर आरएमयू से सप्लाई बाधित हुई। शहर में 38 बिजली फीडरों से बिजली सप्लाई बंद की गई।

ू

मौसम विभाग की चेतावनी
मौसम विभाग के मुताबिक 15 अगस्त को पूर्वी राजस्थान के अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडग़ढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक व उदयपुर जिले में कुछ स्थानों पर बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में अत्यधिक भारी बारिश की चेतावनी है। पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, जालोर व पाली जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी है। जिन जिलों के लिए चेतावनी दी गई हैं, वहां जिला प्रशासन ने आपदा प्रबंधन विभाग की टीमों को तैयार करने के साथ बाढ़ बचाव संबंधी आवश्यक तैयारियां कर ली है।

यह खबर भी पढ़े: सैनिकों की वापसी के लिए ईमानदारी से साथ मिलकर काम करे चीन- विदेश मंत्रालय

यह खबर भी पढ़े: नेपाल में मूसलाधार बारिश के कारण हुए भूस्खलन से 5 लोगों की मौत, जबकि 38 लोग लापता

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended